comScore

‘राम मंदिर’ के लिए तीन बड़े शहरों से एक ही दिन ‘शंखनाद’, धर्मसभा 25 को

November 10th, 2018 15:48 IST
‘राम मंदिर’ के लिए तीन बड़े शहरों से एक ही दिन ‘शंखनाद’, धर्मसभा 25 को

हाईलाइट

  • राम मंदिर निर्माण को लेकर सरकार पर दबाव बनाने के लिए संतों की धर्मसभा का आयोजन
  • धर्मसभा का आयोजन एक साथ एक ही दिन देश भर में 3 स्थानों पर किया जाएगा
  • 25 नवंबर को होने वाली धर्मसभा की अगुवाई प्रख्यात साध्वी ऋतंभरा करेंगे

डिजिटल डेस्क, नागपुर। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर सरकार पर दबाव बनाने तथा रणनीति तय करने के लिए संतों की धर्मसभा का आयोजन एक साथ एक ही दिन देश भर में 3 स्थानों पर किया जाएगा। इसमें नागपुर भी शामिल है। संत उच्चाधिकार समिति के मार्गदर्शन में नागपुर में 25 नवंबर को होने वाले धर्मसभा की अगुवाई प्रख्यात साध्वी ऋतंभरा और समिति के महाराष्ट्र में एकमात्र सदस्य जीतेंद्रनाथ महाराज करेंगे।

सुनवाई टलने से संत समाज में रोष
धर्मसभा को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पदाधिकारियों की बैठक रेशमबाग स्थित संघ के स्मृति मंदिर में हो रही है। सूत्रों के अनुसार, राम मंदिर निर्माण को लेकर मोदी सरकार की उदासीनता और सुप्रीम कोर्ट द्वारा राम मंदिर मुद्दे की सुनवाई को जनवरी तक टालने से हिंदुओं और संत समाज में रोष है। संघ के विजयादशमी कार्यक्रम में संघ प्रमुख डा. मोहन भागवत ने राम मंदिर को लेकर अध्यादेश लाने का सुझाव सरकार को दिया था। चारों शंकराचार्यों और प्रमुख संतों ने संत उच्चाधिकार समिति का गठन कर हरिद्वार में अक्टूबर में दो दिवसीय सम्मेलन लिया था।

स्थान तय नहीं हो पाया है
जानकारी के अनुसार संत उच्चाधिकार समिति ने अब नागपुर सहित देशभर में चार स्थानों पर धर्मसभा का आयोजन करने का निर्णय लिया है। नागपुर, अयोध्या, बंगलुरु में एक साथ 25 नवंबर को धर्मसभा होगी, जबकि दिल्ली में 9 दिसंबर को आयोजन होगा। नागपुर में संघ का मुख्यालय होने से धर्मसभा का विशेष महत्व है। साध्वी ऋतंभरा और संत उच्चाधिकार समिति के प्रतिनिधि जीतेंद्रनाथ महाराज की अगुवाई में धर्मसभा की तैयारी जोर-शोर से जारी है। धर्मसभा का स्थान तय नहीं हो पाया है। क्रीड़ा चौक स्थित ईश्वर देशमुख नेशनल कालेज या महल स्थित चिटणीस पार्क में आयोजन हो सकता है। धर्मसभा का स्थान, कार्यक्रम की रूपरेखा आदि को लेकर संघ के पदाधिकारियों की बैठक चल रही है। बैठक में कार्यक्रम स्थल तय होने की उम्मीद है।

कमेंट करें
MYhej