comScore

तीसरी बार अवैध शराब बेचते पकड़े गये तो सीधे तड़ीपार

January 31st, 2019 11:45 IST
तीसरी बार अवैध शराब बेचते पकड़े गये तो सीधे तड़ीपार

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर में अवैध शराब की बिक्री व तस्करी पर रोक लगाने के लिए अब अवैध शराब विक्रेताओं व तस्करों के खिलाफ सीधे तड़ीपार की कार्रवाई की जाएगी। राज्य उत्पादन शुल्क विभाग सख्त हो गया है। वह इस तरह की कार्रवाई के लिए पूरी तरह से कमर कस चुका है। सूत्रों के अनुसार, तीसरी बार अवैध शराब बेचते या उसे ले जाते (तस्करी करते) मिलने पर सीधा उसे जिले से तड़ीपार कर दिया जाएगा। यह उन आरोपियों पर कार्रवाई की जाएगी जो बार- बार चेतावनी देने के बाद भी अवैध शराब के कारोबार करने से बाज नहीं आ रहे हैं। विभाग के इस निर्णय से कई अवैध शराब विक्रेताओं व तस्करों में खलबली मच गई है। 

यह है हकीकत :

शराब बंदी जिलों में नागपुर के रास्ते से अवैध शराब पहुंचाई जाती है। अवैध शराब की यह तस्करी नागपुर से हो रही है। चार पहिया वाहनों में अवैध शराब की खेप चोरी-छिपे भेजी जाती है। अनेक ढाबों व ग्रामीण क्षेत्रों में महुआ शराब की भटि्ठयों में अवैध शराब बनाई जाती है। 

यह है योजना :

विभागीय उपायुक्त उषा वर्मा के आदेश पर जिले के सभी जोन से ऐसे आरोपियों की सूची मंगाई जा रही है। उपविभागीय अधिकारी बांड तय करेंगे। फिलहाल एक साल का रिकार्ड मंगाया जा रहा है। इस रिकार्ड के आने पर पहले अवैध शराब के धंधे से जुड़े लोगों से 5 से 10 हजार रुपए का  बांड भरवाकर उन्हें चेतावनी  देकर छोड़ दिया जाएगा। उस बांड के आधार पर वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आए और तीसरी बार शराब बेचते या तस्करी करते पकड़े गए तो उन्हें महाराष्ट्र शराब बंदी अधिनियम 1949 की धारा 93 के तहत सीधा तड़ीपार कर दिया जाएगा। सभी जोन से जनवरी 2018 से जनवरी 2019 तक की गई कार्रवाई में शामिल आरोपियों की सूची मंगाई गई है। इस सूची के अनुसार बार-बार अपराध करने वाले आरोपियों की अलग से सूची तैयार की जाएगी। ऐसे आरोपियों पर  विभाग के अधिकारी वॉच रखेंगे।  

होगी कड़ी कार्रवाई :

बांड भरने के बाद अगर कोई अवैध शराब के धंधे में लिप्त पाया गया तो उसके खिलाफ उपविभागीय अधिकारी के पास तड़ीपार करने का प्रस्ताव भेजा जाएगा।  - रावसाहेब कोरे, उपनिरीक्षक-राज्य उत्पादन शुल्क विभाग

कमेंट करें
6UoQl