comScore

दस साल की बच्ची से रिश्तेदार मारपीट कर कराते थे काम, त्रस्त होकर भागी 

दस साल की बच्ची से रिश्तेदार मारपीट कर कराते थे काम, त्रस्त होकर भागी 

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। मदन महल थाना क्षेत्र में एक दस साल की बच्ची से घर का पूरा काम कराने एवं उसके साथ मारपीट करने के कारण ही वह घर से भागी थी। यह तो अच्छा हुआ कि बस स्टैण्ड के पीछे नाले के किनारे एक पेड़ के नीचे उसे कुछ लोगों ने देख लिया जिसके कारण वह बदमाशों के चंगुल में फंसने से बच गई। बच्ची को चाइल्ड केयर टीम के हवाले कर दिया गया है। इस सम्बंध में एसपी अमित सिंह ने जानकारी दी है कि राइट टाउन में शक्ति विहार अपार्टमेंट में रहने वाले चौधरी शिवव्रत मोहंती ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि वह अपने रिश्तेदार की बेटी को लाये थे। उनके घर से वह फूल लेने निकली थी और फिर लौट कर नहीं आई। गुरुवार को जब बच्ची गायब हुई उसके बाद से ही उसकी तलाश की गई, लेकिन वह कहीं नहीं मिली। बाद में टीआई संदीप अयाची के नेतृत्व में टीम गठित की गई। खोजबीन के दौरान एमएलबी स्कूल के पीछे रहने वाले अनुराग सौंधिया ने जानकारी दी थी कि एक बच्ची  बस स्टैण्ड के पीछे नाले के किनारे देखी गई थी, जब पुलिस बल वहाँ पहुँचा तो बच्ची मिल गई।

चाइल्ड केयर टीम के हवाले किया बच्ची को  

उड़ीसा से आई बच्ची का कहना था कि उसके साथ मारपीट कर काम कराया जाता है। उसके माता-पिता से भी मोबाइल पर बात नहीं कराई जाती है। इस मामले में बच्ची के बयान लेने के बाद उसे चाइल्ड केयर टीम के हवाले कर उसके परिजनों को खबर कर दी गई है। यहां पुलिस मामले की जांच कर रही है और रिश्तदारों को दोषी पाए जाने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है ।
पुरस्कृत किया 

इस मामले में पुलिस की मदद करने वाले अनुराग सौंधिया को एसपी द्वारा पुरस्कृत भी किया गया है। इस मामले में थाना प्रभारी के अलावा लक्ष्मी तिवारी, चेतन शर्मा, जमुना मिश्रा, सुभाष कुमार, राजेश अग्निहोत्री, नमन डहेरिया, परसराम पांडेय, निर्मल राय, पारसनाथ, संतोष कुमार की सराहनीय भूमिका रही।  

कमेंट करें
VKMwn