comScore

यूको बैंक में 621 करोड़ के फ्रॉड मामले में पूर्व CMD गिरफ्तार, 2 CA पर केस दर्ज

BhaskarHindi.com | Last Modified - April 16th, 2018 14:02 IST

यूको बैंक में 621 करोड़ के फ्रॉड मामले में पूर्व CMD गिरफ्तार, 2 CA पर केस दर्ज

 

डिजिटल डेस्क । सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक यूको बैंक के पूर्व चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक (सीएमडी) अरुण कौल को 621 करोड़ रुपए के लोन घोटाला मामले में CBI ने गिरफ्तार किया। CBI के अधिकारियों ने बताया कि जांच एजेंसी इस सिलसिले में 10 स्थानों पर छापेमारी कर रही है। जिन जगहों पर छापेमारी की जा रही हैं, उनमें से 8 दिल्ली में और दो मुंबई में हैं। वहीं  कौल की गिरफ्तारी के बाद इसके शेयर आज शुरुआती कारोबार में करीब 18 प्रतिशत गिर गए। 

दो सीए पर भी दर्ज हुआ केस

अधिकारियों ने बताया कि आरोपियों ने आपराधिक षड्यंत्र के तहत बैंक लोन की हेराफेरी कर यूको बैंक से करीब 621 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की है। उन्होंने कहा कि कौल के अलावा सीबीआई ने एरा इंजीनियरिंग इंफ्रा इंडिया लिमिटेड (मैसर्स ईईआईएल), उसके सीएमडी हेम सिंह भराना, दो चार्टर्ड अकाउंटेंट पंकज जैन और वंदना शारदा, मैसर्स अलटियस फिन्सर्व प्राइवेट लिमिटेड के पवन बंसल और अन्य अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

यूको बैंक को भी नुकसान हुआ

गौरतलब है कि पिछले दिनों सामने आए देश के सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले पीएनबी में यूको बैंक को भी नुकसान हुआ है। पिछले दिनों बैंक की तरफ से बताया गया था कि 13 हजार करोड़ रुपए के घोटाले से हुए नुकसान की जद में यूको बैंक भी है। यूको बैंक ने बताया था कि पीएनबी घोटाले में उसके भी 41.18 करोड़ डॉलर यानी करीब 2,636 करोड़ रुपये फंसे हैं।

शेयर मार्केट में यूको बेंक को लगा झटका

यूको बैंक ने शेयर बाजार को बताया था कि उसकी हांगकांग शाखा स्विफ्ट कोड के जरिये पीएनबी के गारंटीपत्र के आधार पर भुगतान की प्राप्ति कर लिये जाने के बाद निर्यात दस्तावेजों के बारे में विशेषज्ञों से बातचीत कर रही है। उसने कहा कि गारंटीपत्र के आवेदकों में कुछ ऐसे भी लोग शामिल हैं जो पीएनबी घोटाले में संलिप्त रहे हैं। उसने कहा, यह रकम करीब 41.18 करोड़ डॉलर है।

बंबई शेयर बाजार में बैंक के शेयर 20 रुपये पर खुले और कुछ ही देर में 14.31 प्रतिशत गिरकर 52 सप्ताह के निचले स्तर 19.15 रुपये पर आ गए। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में इसके शेयर 20.60 रुपये पर खुले और कुछ ही देर में 17.97 प्रतिशत गिरकर 18.25 रुपए पर आ गए।

गौरतलब है कि अरबपति ज्वैलरी डिजायनर नीरव मोदी और उनके साझेदार मेहुल चौकसी पर आरोप है कि उनके परिवार के कुछ सदस्यों ने पंजाब नेशनल बैंक के जरिए जारी 150 गारंटी पत्रों के जरिये करीब 13 हजार करोड़ रुपये के फर्जी लेनदेन किए। इस मामले के सामने आने के बाद ईडी और सीबीआई ने नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की 7000 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति जब्त कर ली है।
 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l