comScore
Dainik Bhaskar Hindi

वायरल हुआ अकाली नेता 'सुच्चा' का आपत्तिजनक वीडियो

BhaskarHindi.com | Last Modified - October 02nd, 2017 15:24 IST

1k
0
0

डिजिटल डेस्क, गुरदासपुर। इन दिनों पंजाब के पूर्व मंत्री सुच्चा सिंह लंगाह का एक महिला के साथ संबंध बनाते वीडियो जमकर वायरल हो रहा है। ये वीडियो वायरल होने के बाद शिरोमणि अकाली दल यानि SAD ने सुच्चा सिंह को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। इस मामले में महिला ने कथित तौर पर सुच्चा सिंह के खिलाफ रेप की शिकायत दर्ज कराई है जिसमें एफिडेविट और पैनड्राइव में वीडियो पुलिस को सौंपने के साथ ही उन्होनें बताया कि सुच्चा ने 2009 व उसके बाद कई बार उसके साथ बलात्कार किया और मामले का जिक्र किसी से करने पर जान से मारने की धमकी दी। जिसके बाद इस मामले में महिला का  गुरदासपुर में मेडिकल कराया जा चुका है और सुच्चा पर आईपीसी धारा 376, 382, 420, 506 के तहत केस दर्ज किया गया है

PunjabKesari

कौन हैं सुच्चा सिंह लंगाह

महिला पुलिस कर्मी से बलात्कार के आरोपी शिरोमणि अकाली दल के सीनियर नेता, जिला गुरदासपुर के शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी तथा धर्म प्रचार कमेटी के सदस्य और पूर्व में कृषि मंत्री रह चुके हैं। लेकिन इस सब के बावजूद उनका पूर्व सियासी व निजी जीवन पहले ही विवादो में रहा है।
•    1992 में उनके बैड कैरेक्टर यानि खराब चरित्र के चलते जालंधर रीजनल पासपोर्ट ऑफिस ने उनका पासपोर्ट बनाने से इंकार कर दिया था, खराब चरित्र के ही कारण पासपोर्ट के लिए लंगाह का नाम ‘प्रॉयर अप्रूवल लिस्ट’ में था हालांकि 1997 में मंत्री पद पाने के बाद उन्होनें फर्जी दस्तावेजों के आधार पर 1998 में पासपोर्ट हासिल कर लिया था।
•    फर्जी दस्तावेजों के  चलते उन्हें एयरपोर्ट अथॉरिटी ने रिस्क फॉर फ्लाइट यानि विमान सेवा के लिए खतरा घोषित कर दिया था।
•    गुरदासपुर सदर पुलिस स्टेशन के रिकॉर्ड में लंगाह की बैड करेक्टर (बीसी-ए) की हिस्ट्री रही है।
•    पुलिस रिकोर्ड अनुसार 1972 से 2002 तक 40 साल वो हिस्ट्रीशीटर भी रहे हैं। दल में शामिल होने के बाद उनके हिस्ट्रीशीट को निजी में तब्दील कर दिया गया।

पंजाब के पूर्व मंत्री सुच्चा सिंह लंगाह

गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू

रेप केस से विवादों में आए पूर्व अकाली दल के नेता सुच्चा सिंह लंगाह की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। इस मामले में शनिवार को कोर्ट में पेश होने के बाद सुच्चा सिंह लंगाह ने आत्म समर्पण नहीं किया, जिसके बाद पुलिस ने कहा कि अब लंगाह के सिरेंडर करने का इंतजार नहीं किया जाएगा। अब उसे जहां पर भी मिले, वहीं गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इसलिए पुलिस अब लंगाह को गिरफ्तार करने के लिए जगह-जगह पर छापेमारी कर रही है।

शिरोमणि अकाली दल से 'बेदखल'

इस वीडियो के सामने आते ही लंगाह ने पार्टी से जुड़े सभी पदों से इस्तीफा दे दिया, जिसे अकाली प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने स्वीकार कर उन्हें शिरोमणि अकाली दल की प्राइमरी सदस्यता से बेदखल कर दिया है।

CBI करेगी वीडियो की जांच

इस मामले में पुलिस अधिकारियों का कहना है कि महिला द्वारा पैनड्राइव में दिया वीडियो व सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो एक ही है अथवा नहीं इसकी जांच साइबर क्राइम सेल द्वारा की जाएगी। 

लंगाह से कैसे मिली महिला!!!

जानकारी के अनुसार विजिलेंस विभाग पठानकोट में तैनात महिला कर्मचारी ने पुलिस को शिकायत की थी कि पंजाब के पूर्व मंत्री सुच्चा सिंह लंगाह उससे वर्ष 2009 से उसकी मर्जी के विरुद्ध दुष्कर्म करते आ रहे है। साथ ही उसने बताया कि वही गुरदास पुर की रहने वाली है उसके पति पुलिस में ही नौकरी करते थे और अप्रैल 2008 में उनकी मौत हो गई थी तो उनके स्थान पर नौकरी पाने के लिए वो 2009 में सुच्चा सिंह लंगाह से पहली बार चंड़ीगढ किसान भवन में मिली और उन्होनें उसे 2-3 दिन बाद वापस अपने कार्यालय बुलाया और उसके साथ अभद्रता शुरु कर दी, मना करने पर उसे जान से मारने की धमकी भी दी। ये सिलसिला काफी समय यूं ही चलता रहा कई बार युवती दवाब में आकर शोषण का शिकार होती रही।

(bhaskarhindi.com वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता)

 

 

 

 

 

 

 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर