comScore

TDP के 4 राज्यसभा सांसद BJP में शामिल, विधायक दल के विलय का प्रस्ताव भी पारित

TDP के 4 राज्यसभा सांसद BJP में शामिल, विधायक दल के विलय का प्रस्ताव भी पारित

हाईलाइट

  • चंद्रबाबू नायडू की तेलुगु देशम पार्टी गुरुवार को राज्यसभा में बिखर गई
  • TDP के 4 सांसद जेपी नड्डा की उपस्थिति में भाजपा में शामिल हुए
  • चारों सांसदों ने TDP विधायक दल के विलय का प्रस्ताव भी पारित किया

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। तेलुगु देशम पार्टी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू को तगड़ा झटका लगा है। गुरुवार को छह में से उसके चार राज्यसभा सांसद भाजपा में शामिल हो गए। सांसदों ने भाजपा के साथ राज्यसभा में टीडीपी विधायक दल के विलय का प्रस्ताव भी पारित किया। टीडीपी सांसद, वाईएस चौधरी, टीजी वेंकटेश, सीएम रमेश ने बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा की उपस्थिति में बीजेपी में शामिल होने के बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की। टीडीपी के एक अन्य सांसद जीएम राव औपचारिक रूप से बाद में शामिल होंगे क्योंकि वह अभी अस्वस्थ हैं।

टीडीपी विधायक दल के विलय के लिए प्रस्ताव पर हस्ताक्षर करने वाले चार सांसदों में वाईएस चौधरी, टीजी वेंकटेश, सीएम रमेश और जीएम राव शामिल हैं। सांसदों ने तत्काल प्रभाव से विलय के लिए राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू को पत्र सौंपा। एक प्रेस कॉन्फ्रेस को संबोधित करते हुए भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष ने टीडीपी सांसदों का पार्टी में स्वागत किया। नड्डा ने कहा कि भाजपा ने विलय के उनके प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है। बीजेपी मुख्यालय में बोलते हुए, वाईएस चौधरी ने कहा, 'हमने यह निर्णय लिया क्योंकि हमें लगा कि हमें राष्ट्र के विकास में योगदान देना चाहिए। हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व से प्रेरित हैं।'

इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए, टीडीपी प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू ने कहा: 'हमने भाजपा के साथ केवल स्पेशल कैटेगरी स्टेटस और राज्य के हितों के लिए लड़ाई लड़ी। हमने स्पेशल स्टेटस के लिए केंद्रीय मंत्रियों का बलिदान दिया। चंद्रबाबू ने भाजपा पर टीडीपी को कमजोर करने का प्रयास करने का आरोप लगाया और इसकी निंदा की। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चंद्रबाबू नायडू इस वक्त परिवार के साथ यूरोप में छुट्टियां मना रहे हैं। वे एक दिन पहले ही पत्नी भुवनेश्वरी, बेटे लोकेश, दामाद ब्राम्हणी और पोते देवांश के साथ हैदराबाद से यूरोप के लिए रवाना हुए है। नायडू 26 जून को वापस भारत लौटेंगे।

हाल ही के चुनावों में आंध्र प्रदेश में वाईएसआरसीपी की जीत के बाद टीडीपी को सत्ता गंवानी पड़ी। पार्टी 151 विधानसभा सीटों में से केवल 23 सीटें ही सुरक्षित कर सकी। जबकि राज्य की 25 लोकसभा सीटों में से केवल तीन पर जीत दर्ज की। 


 

कमेंट करें
5FLRj