comScore

विदेशी मुद्रा बदलने का झांसा देकर कर ली 43 हजार रुपए की ठगी

विदेशी मुद्रा बदलने का झांसा देकर कर ली 43 हजार रुपए की ठगी


डिजिटल डेस्क पांढुर्ना/छिंदवाड़ा। भारतीय मुद्रा के बदले डॉलर देने के नाम पर ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है। जहां एक महिला एवं उसके साथी ने एक दुकान को बातों उलझाकर 43 हजार रुपए पार कर दिए। ठगी का शिकार हुए दुकानदार ने इस पूरे मामले की शिकायत पुलिस से की है। पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए विवेचना में लिया है।
जानकारी के  अनुसार पांढुर्ना के शंकर नगर स्थित न्यू चॉइस मिल्क सेंटर में बुधवार दोपहर फॉरेनर की तरह दिखाई दे रही एक महिला और उसका साथी आया। टीशर्ट और लोवर पहनी इस महिला ने सेंटर संचालक को विदेशी करेंसी दिखाकर अपनी बातों में उलझाया और उसके साथी ने दुकान में रखी नोटों की गड्डी उड़ा दी। जब तक दुकानदार कुछ समझ पाता तब तक आरोपी फरार हो चुके थे। ठगी की वारदात को अंजाम देने के तरीके से पुलिस ईरानी गैंग पर संदेह जाहिर कर रही है। इरानी गैंग के सदस्य भी फॉरेनर की तरह दिखाई देते है। इसके पहले दो और दुकानों में गिरोह ने वारदात का प्रयास किया था।
ऐसे दिया वारदात को  अंजाम-
बताया जा रहा है कि बुधवार दोपहर न्यू चॉइस मिल्क सेंटर के संचालक राजेश धोटे अपनी दुकान पर थे। इस दौरान लगभग ४५ साल की एक महिला और उसका साथी आया। फॉरेनर की तरह दिखाई देने वाली महिला और उसके साथी ने पहले राजेश को कुछ चिल्लर देकर पांच सौ रुपए का नोट मांगा। इसके बाद महिला ने फॉरेन करंसी दिखाई और राजेश से उसकी कीमत पूछी। महिला ने राजेश को अपनी बातों में फंसाया और उसके साथी ने दुकान की स्टूल में रखी नोटों की गड्डी में से पांच सौ और सौ रुपए की गड्डी उड़ा दी ।43 हजार रुपए लेकर महिला और उसका साथी कार से फरार हो गए। ठगी की सूचना मिलने पर टीआई अरविंद जैन मौके पर पहुंचे। पुलिस ने शहर के आसपास नाकेबंदी की, लेकिन देर शाम तक पुलिस को कोई सफलता हाथ नहीं लगी।
दो और दुकानों में किया था प्रयास-
न्यू चॉइस मिल्क सेंटर में वारदात को अंजाम देने वाले गिरोह ने इसके पहले इसी क्षेत्र की एक किराना दुकान और सीमेंट दुकान संचालक को बातों में फंसाकर गल्ले से रुपए निकालने का प्रयास किया था, लेकिन वे कामयाब नहीं हो पाए।
इरानी गैंग पर शक-
ठगी का शिकार राजेश धोटे और अन्य दो दुकानदारों के बताए हुलिए से पुलिस अनुमान लगा रही है कि वारदात इरानी गैंग ने की है। ठगी की वारदात करने का तरीका भी इरानी गैंग जैसा ही है। इसके पहले भी चारफाटक और मोरडोंगरी में इरानी गैंग ठगी की वारदात को अंजाम दे चुकी है। पुलिस ने एक टीम काटोल और नागपुर आरोपियों की तलाश में भेजी है।

कमेंट करें
THIB0