comScore

कैशलेस Transaction में बर्दाश्त नहीं होगी धोखाधड़ी : कोर्ट

July 27th, 2017 15:37 IST
कैशलेस Transaction में बर्दाश्त नहीं होगी धोखाधड़ी : कोर्ट

दैनिक भास्कर न्यूज़ डेस्क, जबलपुर।  कोर्ट ने एक फैसला सुनाने से पहले कहा, भारत देश कैशलेस ट्रांजक्शन के जरिए आधुनिक युग की तरफ कदम बढ़ा रहा है। इसके लिए जनता को प्रोत्साहित करने सरकार नई-नई नीतियां बना रही है। ऐसी परिस्थितियों में इससे जुड़े अपराध कैशलेस ट्रांजक्शन काे हतोत्साहित करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। इतना भर नहीं इससे समाज पर भी गलत प्रभाव पड़ेगा, लिहाजा इस तरह के कृत्य को नजरअंदाज करके जमानत कतई नहीं दी जा सकती। जिला अदालत ने एटीएम के जरिए गलत तरीके से पैसे निकालने के एक मामले में इस तरह की टिप्पणी की और आरोपी को जमानत देने से साफ इनकार कर दिया। एडीजे एसबी साहू की अदालत ने अपने आदेश में यह भी कहा है कि प्रकरण की विवेचना अभी पूरी नहीं हो पाई है। दूसरी ओर सीसीटीवी फुटेज भी हासिल नहीं हो पाए हैं, ऐसी परिस्थिति में आरोपी को कोई रियायत देना सही नहीं है। 

बाद में सब बरामद
सख्ती से पूछताछ में आरोपी ने कबूल कर लिया कि उसने किस तरह से कार्ड, पिन नंबर हासिल किए। आरोपी ने पुलिस को बताया कि गोपनीय लिफाफा हासिल करने के बाद उसने उन्हें किचन की एक अलमारी में छिपाकर रख दिया। इसके बाद मौका मिलने पर एटीएम से पैसे निकाल लिये। बाद में लैटर और रुपए उसी जगह में छिपाकर रखने की बात भी सामने आई। पुलिस ने इसके बाद मौके पर पहुंचकर लिफाफा और पांच-पांच सौ रुपए के 31 नोट बरामद कर लिये।

जमानत मिली तो...कहां मिलेगा
अभियोजन की दलीलों ने भी कारगर असर किया। कोर्ट के सामने मजबूती से पक्ष रखा गया कि मामले की छानबीन चल रही है। दूसरी बात यह कि आरोपी उप्र का रहना वाला है। लिहाजा जमानत पर रिहा किया गया तो आरोपी के फरार होने के पूरे आसार रहेंगे। इतना भर नहीं आरोपी द्वारा पुलिस की जांच-पड़ताल को भी प्रभावित किया जा सकता है।

ऐसा है मामला?
अभियोजन की ओर से अधिवक्ता सुशील सोनी ने कोर्ट को बताया कि आरोपी आकाश त्रिपाठी जुगराजपुरा सराय कौशाम्बी उप्र निवासी है। आरोपी की जबलपुर एच-टाइप खमरिया निवासी कृष्णानंद तिवारी से वर्षों पुरानी दोस्ती है। आरोपी 20 जून से कृष्णानंद के घर पर मेहमाननबाजी में आया था, इसी दौरान आरोपी ने अपने दोस्त के घर से उसके बड़े भाई के एटीएम कार्ड का काॅन्फीडेंशियल लिफाफा चोरी कर लिया। इसके बाद 22 जून को आरोपी खमरिया बाजार स्थित एटीएम पहुंचा और उसमें से 15 हजार 5 सौ रुपये निकाल लिये। पीड़ित के भाई के मोबाइल पर जैसे ही मैसेज के जरिए रकम निकलने की जानकारी आई, उसके होश उड़ गए...तुरंत इसकी पतासाजी शुरू की गई, जिसमें पीड़ित के मामा ने बताया कि आकाश को खमरिया बाजार एटीएम से रुपये निकालते देखा गया है। इसके पश्चात पुलिस में शिकायत दर्ज करायी गई। पुलिस ने आरोपी आकाश त्रिपाठी के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज कर उसे अभिरक्षा में ले लिया।

कमेंट करें
jQzkR