comScore
Dainik Bhaskar Hindi

मिलेगी अच्छी जॉब, व्यापार में भी होगा लाभ, यहां जानें गायत्री मंत्र के 5 फायदे

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 15th, 2017 08:33 IST

1.5k
0
0

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। ओम के उच्चारण से समस्त इंद्रियां सक्रिय हो जाती हैं। ये जितना सुनने वाले के लिए लाभप्रद होता है उतना ही लाभकारी यह उनके लिए भी होता है जो उसका जप या उच्चारण कर रहे हैं। अक्सर ही आपने यह सुना होगा कि लोग गायत्री मंत्र का जप करने की सलाह देते हैं। कई घरों में तो इसे अनिवार्य रूप से नियमित पढ़ा जाता है। आखिर इसमें ऐसी क्या खासियत है। यहां हम आपको गायत्री मंत्र पढ़ने के पांच फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं...



1. गायत्री मंत्र का जप सर्वाधिक विद्यार्थियों या छात्रों को फायदा पहुंचाता है। इसके जप से एकाग्रता बढ़ती है ध्यान भंग नही होता और पढ़ाई में मन लगने लगता है। 
 

2. गायत्री मंत्र के तेज का अनुमान इस बात से भी लगाया जाता है कि नित्यप्रति गायत्री मंत्र जपने से देवी की कृपा होती है। यदि आप मंत्रोच्चार के वक्त संतान की कामना करते हैं तो आपकी मनोकामना अवश्य ही पूर्ण होगी। अर्थात संतान प्राप्त करने के लिए भी इस मंत्र का जप किया जा सकता है। 

3. गायत्री मंत्र का 108 बार जप वैसे तो आप नियमित ही कर सकते हैं, किंतु यदि किसी कन्या या लड़के के विवाह में देरी हो रही है तो सोमवार के दिन इसका जप करें। इससे निश्चित ही विवाह बाधा दूर होगी और आपके विवाह जीवन के प्रारंभ होने के मार्ग खुल जाएंगे। 

4. सिर्फ संतान या विद्यार्थी ही नही, नौकरी से संबंधित समस्याओं का समाधान भी इसके जरिए होता है। व्यापार में नुकसान होने पर भी गायत्री मंत्र का जप लाभ पहुंचता है, किंतु इसके लिए जरूरी है कि शुक्रवार को पीतांबर वस्त्रों को धारण कर इसका जप करें। 


5. गायत्री मंत्र रोगों को नाश करने करने वाला भी बताया गया है अर्थात  कांसे के बर्तन में जल भरकर  शुभ मुहूर्त में 108 बार इस पवित्र मंत्र का जप करें। इससे रोग दूर भागते हैं एवं मन शुद्ध होता है। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर