comScore

चुनावी रैली में मोदी ने पूछा, 2019 में कांग्रेस लड़ेगी या सुन्नी वक्फ बोर्ड?

December 07th, 2017 08:23 IST
चुनावी रैली में मोदी ने पूछा, 2019 में कांग्रेस लड़ेगी या सुन्नी वक्फ बोर्ड?

डिजिटल डेस्क, गांधीनगर। गुजरात विधानसभा चुनाव में पहले फेस की वोटिंग में अब 3 दिन का समय बाकी है। ऐसे में सियासी हमले और भी तेज हो गए हैं। बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमदाबाद के धांधुका में एक रैली को एड्रेस किया। यहां बोलते हुए पीएम मोदी ने कांग्रेस लीडर कपिल सिब्बल पर तीखा हमला करते हुए कहा है कि 2019 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस लड़ेगी या फिर सुन्नी वक्फ बोर्ड लड़ेगा? बता दें कि मंगलवार को अयोध्या विवाद पर सुनवाई के दौरान कपिल सिब्बल ने कोर्ट से इस मामले की सुनवाई 2019 के लोकसभा चुनावों तक टालने की बात कही थी।

सिब्बल ने सुनवाई टालने के लिए क्यों कहा? 

इस रैली में पीएम मोदी ने कहा कि 'मुझे इस पर कोई आपत्ति नहीं है कि कपिल सिब्बल मुस्लिम समुदाय की तरफ से लड़ रहे हैं, लेकिन वो ये कैसे कह सकते हैं कि अगले चुनाव तक अयोध्या मामले का हल नहीं होना चाहिए? इसका संबंध 2019 के लोकसभा चुनाव से कैसे है? आखिर 2019 में कांग्रेस चुनाव लड़ेगी या फिर सुन्नी वक्फ बोर्ड लड़ेगा।' पीएम ने ये भी कहा कि 'मैं ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर चुप नहीं बैठूंगा। हर चीज चुनाव के बारे में नहीं होता। यह मुद्दा महिलाओं के अधिकारों का है और चुनाव इंसानियत के बाद आता है।'

और क्या कहा पीएम ने? 

धंधुका में पब्लिक रैली को एड्रेस करते हुए पीएम मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि 'एक परिवार ने बाबा साहेब और सरदार पटेल के साथ बहुत अन्याय किया है।' उन्होंने आगे कहा कि 'अगर कांग्रेस में पंडित नेहरू की चलती तो बाबा साहेब कॉन्स्टीट्यूशनल कमेटी में शामिल तक नहीं हो पाते। यहां तक कि कांग्रेस ने कभी भी बाबा साहेब को भारत रत्न देने की बात तक नहीं सोची।'

मैं इतने सालों से माला नहीं जप रहा था

इस रैली में पीएम मोदी ने कांग्रेस के वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी के बार-बार मंदिर जाने पर एक बार फिर से हमला करते हुए कहा कि 'मंदिर-मंदिर जाने से गुजरात में बिजली नहीं आई है। मैं इतने सालों से माला नहीं जप रहा था, काम कर रहा था।' पीएम ने ये भी कहा कि जितना काम कांग्रेस ने 60 साल में किया, उससे 10 गुना ज्यादा हमने पिछले 10 सालों में किया। उन्होंने ये भी कहा कि 'किसान जो भी कर्ज लेंगे, इसका इंटरेस्ट राज्य सरकार देगी।

सिब्बल ने क्या कहा था कोर्ट में? 

दरअसल, मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या विवाद को लेकर सुनवाई की गई। इस दौरान कांग्रेस लीडर और सुन्नी वक्फ बोर्ड के एडवोकेट कपिल सिब्बल ने कोर्ट से इस मामले की सुनवाई को 2019 के जनरल इलेक्शन तक टालने की मांग की थी। हालांकि कोर्ट ने सिब्बल की इस दलील को खारिज कर दिया था और अगली सुनवाई के लिए 8 फरवरी की तारीख तय की है। इसके बाद बीजेपी के नेशनल प्रेसिडेंट अमित शाह ने कांग्रेस पर 'दोहरा रवैया' अपनाने का आ कहा था कि 'एक तरफ पार्टी के वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी गुजरात में मंदिरों का चुनावी दौरा कर रहे हैं, तो दूसरी तरफ उनकी पार्टी अयोध्या विवाद की सुनवाई को टालना चाह रही है।'

गुजरात में कब है चुनाव? 

गुजरात में विधानसभा चुनाव की 182 सीटों के लिए वोटिंग 2 फेस में होने जा रही है। पहले फेस में 89 सीटों के लिए 9 दिसंबर को वोटिंग होगी, जबकि दूसरे फेस में 93 सीटों के लिए 14 दिसंबर को वोटिंग की जाएगी। वहीं रिजल्ट 18 दिसंबर को डिक्लेयर किए जाएंगे। 

कमेंट करें
GQwM4