comScore

गुप्त नवरात्रि : 9 दिनों तक होगी मां शक्ति के इन अवतारों की पूजा

January 18th, 2018 09:47 IST

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। मां शक्ति की उपासना और उनके विभिन्न रूपों की आराधना के लिए गुप्त नवरात्रि का पर्व 18 जनवरी 2018 से प्रारंभ हो रहा है। प्रतिपदा अर्थात प्रथम दिवस घट स्थापना से लेकर नौंवे दिन तक अन्य विधि पूजन तक इन दिनों नवरात्रि के समान ही पूजन का विधान है, किंतु ये नवरात्रि सामान्य से ज्यादा तांत्रिकों के लिए विशेष मानी जाती है। 9 दिन तक उपवास का संकल्प लेकर विधि-विधान से पूजा करने पर मां प्रसन्न होकर अपने भक्तों को आशीर्वाद प्रदान करती हैं। 

                                                           

शक्ति साधना के लिए विशेष महत्व

गुप्त नवरात्रि के दौरान कई साधक महाविद्या के लिए मां काली, तारादेवी, त्रिपुर सुंदरी, भुवनेश्वरी माता, छिन्न माता, त्रिपुर भैरवी मां, धुमावती माता, बगलामुखी, मातंगी और कमला देवी का पूजन व्रत व आराधना का महत्व अलग-अलग दिनों के अनुसार ही है। यह नवरात्रि विशेष कर तांत्रिक कियाएं, शक्ति साधना से जुड़े लोगों के लिए विशेष महत्व रखती है। जिसकी वजह से ही गुप्तनवरात्रि में रात्रिकाल में पूजा की जाती है।

9 दिनों तक रात्रिकाल में होते हैं अनुष्ठान

गुप्त नवरात्रि की पूजा साधना बेहद कठिन है। साधक कठिन महाविद्यायाओं को प्राप्त करने के लिए अनुष्ठान व प्रयास करते हैं। दुर्लभ शक्तियों को प्राप्त करने के लिए अत्यंत ही कठिन नियमों को अपनाया जाता है। कहा जाता है कि विशिष्ट शक्तियों को प्राप्त करने के लिए साधक माता को प्रसन्न करते हैं। यह अनुष्ठान मुख्यतः तांत्रिक शक्तियों से जुड़े रहते हैं जो देवी को प्रसन्न करने 9 दिनों तक किए जाते हैं। माघ मास में गुप्त नवरात्रि  18 जनवरी से 26 जनवरी 2018 तक मनाया जाएगा।

gupt navratri के लिए इमेज परिणाम 

इन दिनों मां के तारा, काली, षोडशी सहित विभिन्न अवतारों की आराधना की जाएगी। माता की आराधना का खास उत्सव उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा एवं पंजाब सहित आसपास के इलाकों में देखने मिलता है। देवी के मंदिरों में इन दिनों तांत्रिक पूजा की जाती है। साथ aही तांत्रिक मंदिरों में भी देवी आराधना कर साधक मां शक्ति को प्रसन्न करने का प्रयास करते हैं।

कमेंट करें
JDkWF