comScore

जिम्नास्टिक वर्ल्डकप में मेडल जीतने वाली पहली भारतीय बनीं 'अरुणा रेड्‌डी'

February 25th, 2018 18:19 IST

डिजिटल डेस्क, मेलबर्न। भारत की अरुणा बुद्धा रेड्डी ने जिम्नास्टिक वर्ल्ड कप में ब्रांज मेडल जीत लिया है। 22 साल की अरुणा ने महिलाओं के वोल्ट इवेंट में 13.649 का स्कोर कर भारत को पदक दिलाया। वहीं इस वर्ल्डकप में स्लोवाकिया की ट्जासा क्लिसलेफ ने 13.800 के स्कोर के साथ गोल्ड मेडल जीता। जबकि मेजबान ऑस्ट्रेलिया की एमिली व्हाइटहेड (13.699) को सिल्वर मेडल मिला।

महिलाओं की वोल्ट इवेंट में कुल 11 जिम्नास्ट ने हिस्सा लिया। अरुणा बुद्धा और प्रणिति नायक समेत 8 जिम्नास्ट ने फाइनल में जगह बनाईं। अरुणा ब्रांज मेडल जीतने में कामयाब रहीं। प्रणिति छठे स्थान पर रह गईं। उनका कुल स्कोर 13.416 रहा। प्रणिति ने क्वॉलिफिकेशन राउंड में 13.483 अंक के साथ चौथे स्थान पर रहते हुए फाइनल में जगह बनाई थी।

VIDEO : 37 साल के शाहिद अफरीदी ने लिया हैरतअंगेज कैच, आप भी देखकर कहेंगे 'वाह'

जबकि, अरुणा रेड्‌डी क्वॉलिफिकेशन राउंड में 13.566 अंकों के साथ दूसरे नंबर पर रही थीं। सिल्वर मेडल जीतने वालीं ऑस्ट्रेलिया की एमिली क्वॉलिफिकेशन राउंड में पहले नंबर पर रही थीं। राकेश कुमार पातरा पुरुष रिंग फाइनल में ब्रॉन्ज मेडल जीतने से चूक गए। उन्होंने फाइनल में 13.733 का स्कोर किया और चौथे स्थान पर रहे। इस इवेंट का गोल्ड और सिल्वर मेडल चीन ने जीते। ब्रॉन्ज मेडल जापान के नाम रहा।

जिम्नास्टिक नहीं कराटे थी पसंद
तेलंगाना की अरुणा की पहली पसंद जिम्नास्टिक नहीं थी। वे कराटे खेलना चाहती थीं। पर कोच ने अरुणा की फ्लेक्सिबिलिटी देखते हुए उन्हें जिम्नास्ट बनने की सलाह दी। वे 2010 में कम उम्र के कारण दिल्ली कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा नहीं ले सकी थीं।

अब कॉमनवेल्थ गेम्स है टारगेट
अरुणा ने वर्ल्ड कप में मेडल जीतकर गोल्डकोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए भी दावा ठोक दिया है। अप्रैल में होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स में दीपा कर्माकर हिस्सा नहीं ले रही हैं। रियो ओलिंपिक की मेडलिस्ट दीपा चोट के कारण ट्रायल में हिस्सा नहीं ले सकी थीं।

कमेंट करें
vx39p