comScore
Dainik Bhaskar Hindi

वंदे मातरम् को लेकर मोदी खेमे में रार, मंत्री बोलीं - कॉलेज का नाम बदलने वाले अपना नाम बदलें

BhaskarHindi.com | Last Modified - November 25th, 2017 15:55 IST

636
0
0

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। वंदे मातरम् पहले नारा बना, फिर देश का राष्ट्रीय गीत और अब कई लोगों के लिए मुद्दा बन गया है। आए दिन इस पर एक नया विवाद खड़ा हो जाता है। कुछ दिन पहले दिल्ली यूनिवर्सिटी के दयाल सिंह कॉलेज का नाम बदल कर वंदे मातरम् रख दिया गया था, इस पर NDA सरकार की केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने सख्त प्रतिक्रिया दी है। कौर ने इसे हैरान करने वाली खबर बताया है। साथ ही कहा कि ये बिल्कुल स्वीकार्य नहीं है। इतना ही नहीं कौर ने कॉलेज का नाम बदलने वालों को खुद का ही नाम बदलने की नसीहत दे डाली। कौर ने कहा कि 'जो कॉलेज का नाम बदलना चाहते हैं, वो पहले खुद का नाम बदल लें।' बता दें कि दयाल सिंह कॉलेज का नाम बदलकर वंदे मातरम महाविद्यालय रखने का निर्णय लिया गया है। जिस पर कॉलेज के शासी निकाय के अध्यक्ष अमिताभ सिन्हा ने कहा है कि ये फैसला भ्रांति दूर करने के लिए लिया गया है।

ये भी पढ़ें-धान घोटाला: लालू का नीतीश पर तंज- अंतरात्मा मोटी रज़ाई ओढ़ कर सो रही है, डिस्टर्ब नॉट

पाकिस्तान भी दयाल सिंह के योगदान की करता है कद्र- कौर

कॉलेज का नाम बदले जाने के फैसले का पुरजोर विरोध किया गया है। कांग्रेस के स्टूडेंट विंग ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई है। जिसके बाद अब मोदी कैबिनेट में अकाली दल कोटे से मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने तंज कसा कि वो अपने धन-दौलत से कुछ बना सकते हैं और उसे जो चाहें नाम दें। हरसिमरत कौर ने विरासत से जुड़े सवाल भी उठाए। साथ ही ये भी कहा कि पाकिस्तान भी सरदार दीन दयाल सिंह मजीठिया के योगदान की कद्र करता है और उनके नाम पर कॉलेज चलाए जा रहे हैं। कॉलेज का नाम बदलने के इस कदम को पंजाब के पहले स्वतंत्रता सेनानी सरदार दयाल सिंह मजीठिया की विरासत का अपमान बताया जा रहा है।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर