comScore
Dainik Bhaskar Hindi

गर्मियों की दस्तक के साथ ही शुरू हुआ लाइट एक्सरसाइज का दौर

BhaskarHindi.com | Last Modified - March 14th, 2019 15:54 IST

2k
0
0
गर्मियों की दस्तक के साथ ही शुरू हुआ लाइट एक्सरसाइज का दौर

डिजिटल डेस्क, नागपुर। आधुनिक लाइफ स्टाइल जीवन के कारण एक्सरसाइज जीवन का अहम हिस्सा बन चुकी है। विंटर में जहां हैवी एक्सरसाइज प्रिफर की जाती है, वहीं समर में लाइट एक्सरसाइज करना सभी को भाता है। मौसम के हिसाब से पैटर्न और टाइमिंग चेंज हो जाता है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि समर में लाइट एक्सरसाइज करना स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। जिस तरह से आजकल खान-पान और वातावरण में बदलाव हो रहा है, उसको ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य के प्रति ध्यान देना आवश्यक है। इसके लिए एक्सपर्ट की सलाह भी ली जा रही है। 

हेल्दी रहने के लिए वर्कआउट जरूरी
एक्सरसाइज तो हमारी दिनचर्या का हिस्सा बन गया है। जिस दिन एक्सरसाइज नहीं करते हैं, वो पूरा दिन सुस्त लगता है। चाहे कोई भी मौसम हो एक्सरसाइज तो करनी जरूरी है। समर में एक्सरसाइज करने का टाइम चेंज हो जाता है। हमारी कॉलोनी की महिलाओं का ग्रुप है, जो एक साथ पार्क में जाकर एक्सरसाइज और वॉक करते हैं। ठंड के मौसम में तो 7 बजे के बाद जाते हैं बच्चे भी स्कूल चले जाते हैं और उजाला भी हो जाता है, लेकिन समर में सुबह 5 बजे ही चले जाते हैं, ताकि धूप होने के पहले घर आ सकें। समर में अपनी डाइट पर भी ध्यान देना आवश्यक है।
- राजश्री धुर्वे, हाउसवाइफ 

युवा देते हैं फिटनेस पर ध्यान

समर में एक्सरसाइज और वॉक करने में धूप सबसे बड़ी प्रॉबलम है। इसलिए मैं शाम को एक्सरसाइज करती हूं।  वातावरण में हुए बदलाव के साथ ही यंगस्टर्स हैवी एक्सरसाइज को इग्नोर करते हैं। शाम को वर्कआउट करने में थकावट कम होती है। वैसे तो वर्कआउट करते समय पानी पीना इग्नोर करती हूं, लेकिन समर में बिना पानी पिए वर्कआउट करना पॉसिबल नहीं होता है। अगर ज्यादा प्रॉबलम होती है, तो इंडोर वर्कआउट भी कर लेती हूं। मेरा ध्यान वेटलॉस से ज्यादा फैटलॉस पर होता है। वेट लॉस तो हो जाता है, लेकिन फैटलॉस बहुत आसानी से नहीं होता है।
- रश्मि जायसवाल, स्टूडेंट

समय का ध्यान रखना जरूरी

समर में धूप बहुत तेज होती है। इसलिए वर्कआउट करते समय, समय का ध्यान रखना आवश्यक होता है। धूप में वर्कआउट करने से परेशानी हो सकती है, इसलिए सुबह सूर्योदय के पहले और शाम को सूर्यास्त के बाद वर्कआउट करना चाहिए। साथ ही पानी अधिक मात्रा में पीना चाहिए। विंटर सीजन में हैवी एक्सरसाइज की जा सकती है, लेकिन समर में लाइट एक्सरसाइज ही प्रिफर करना चाहिए। हर आयु वर्ग को एक्सपर्ट की सलाह लेनी चाहिए। समर में डाइट में विशेष ध्यान देना आवश्यक है। वेटलॉस या फैटलॉस से ज्यादा हेल्दी रहने पर ध्यान देना चाहिए। हर व्यक्ति को फिटनेस के लिए वर्कआउट करना आवश्यक है।
- सुयोग जोशी, एक्सपर्ट
 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें
Survey

app-download