comScore

SC का आदेश : अब RO जल से ही होगा महाकाल का अभिषेक

October 27th, 2017 23:07 IST
SC का आदेश : अब RO जल से ही होगा महाकाल का अभिषेक

डिजिटल डेस्क,उज्जैन। 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक उज्जैन स्थित महाकाल मंदिर में शिवलिंग क्षरण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला लिया है। अब महाकाल मंदिर में शिवलिंग का अभिषेक सिर्फ आरओ के जल से ही किया जाएगा। हर श्रद्धालु आधा लीटर जल ही चढ़ा सकेगा। महाकाल ज्योतिर्लिंग को क्षरण से बचाने के लिए एक याचिका दायर की गई थी। मामले में सुनवाई के दौरान अपना पक्ष रखने के लिए महाकाल समिति ने गुरुवार को बैठक भी की थी। कमेटी की सिफारिशों के बाद सुप्रीम कोर्ट ने अपना ये फैसला सुनाया है।  इस आदेश पर किसी तरह की आपत्ति के लिए कोर्ट ने दूसरे पक्ष को 15 दिन का समय दिया है।

गौरतलब है कि देश में 12 में से 7 ज्योतिर्लिंगों पर पंचामृत से अभिषेक नहीं होता। यहां एक तय मात्रा में पुजारी ही अभिषेक कर सकता है। शेष 5 में से 3 ज्योतिर्लिंग काशी विश्वनाथ, रामेश्वरम और नागेश्वर में रोक तो नहीं है, लेकिन क्षरण न हो इसके लिए सावधानी भी बरती जा रही है। महाकाल को क्षरण से बचाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी। याचिका में कहा गया था कि भक्तों को गर्भ गृह में जाने और शिवलिंग को स्पर्श करने की इजाजत नहीं होनी चाहिए।

सुप्रीम कोर्ट का फैसला

  • शिवलिंग का अभिषेक सिर्फ RO के जल से किया जा सकेगा
  • प्रति श्रद्धालु अब आधा लीटर जल चढ़ाया जा सकेगा
  • प्रति श्रद्धालु सवा लीटर पंचामृत ही चढ़ाया जा सकेगा
  • भस्मारती के समय सूती कपड़े से शिवलिंग को ढका जाएगा

ध्यान रहे कि 12 ज्योर्तिलिंगों में सिर्फ महाकाल की ही भस्मारती होती है। इस शिवलिंग को स्वयंभू शिवलिंग माना जाता है। भस्मारती के कारण देश और दुनिया से लाखों श्रद्वालू यहां आते हैं। 
कोर्ट ने बनाई थी कमेटी

क्षरण होने को लेकर दायर याचिका के बाद कोर्ट की तरफ से बनाई गई स्पेशल कमेटी ने बताया है कि पूजा के दौरान महाकाल को चढ़ाई जा रही कुछ चीजों से शिवलिंग को नुकसान हो रहा है, जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने फैसला किया कि महाकाल शिवलिंग पर पंचामृत से अभिषेक होना चाहिए या नहीं। 

कमेंट करें
LJc4C