comScore
Dainik Bhaskar Hindi

हकीकत में मौजूद हैं दुनिया की कुछ अविश्वसनीय जगहें

BhaskarHindi.com | Last Modified - April 13th, 2018 19:33 IST

2.8k
0
0

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। आपने दुनिया की कई खूबसूरत जगहों के बारे में सुना या देखा होगा, लेकिन वास्तविकता में ऐसी कुछ जगहें हैं जिन्हें देखकर आपकों कुदरत के करिश्मे पर यकीन हो जाएगा। जी हां, देखने में एसा लगता है कि किसी महान पेंटर की कोई कल्पना है या किसी हॉलीवुड फिल्म में तकनीक का इस्तेमाल कर कोई दृश्य को दर्शाया गया हो मगर हकीकत में ऐसी जगह मौजूद है। 

टियांजी पर्वत (चाईना)

टियांजी पर्वत हुनान राज्य में वुलिंग्युआन एरिया में स्थित है। ये जादुई और सुन्दर जगह पूरे वुल्लिंग्युन क्षेत्र का एक विशाल दृश्य है। माना जाता है कि इनकी चट्टानें 380,000,000 साल पहले महासागर में स्थापित नेप्ट्यूनिक चट्टानों से बनी थी। यहां पर केबल कार द्वारा पहुंचा जा सकता है, और इस सवारी में 6 मिनट से अधिक समय लगता है। 

रोरइमा पर्वत (दक्षिन अमेरिका)

माउंट रोरइमा दक्षिण अमेरिका में टेपुई पठारों की पाकराइमा श्रृंखला का सबसे ऊंचा स्थान है। ये पृथ्वी पर सबसे पुरानी भूवैज्ञानिक संरचनाओं में से एक है। ये पहाड़ वेनेजुएला, ब्राजील, और गयाना के बोर्डर पर मिलता हैं। यहां लगभग हर दिन बारिश होती है।

द ब्लेक फोरेस्ट (जर्मनी)

ब्लैक फॉरेस्ट पश्चिमी जर्मनी के बाडेन-वर्टेमबर्ग इलाके में स्थित है। ब्लैक फॉरेस्ट में पर्यटन मुख्य उद्योग है। यहां के कस्बों और स्मारकों के अलावा, ये क्षेत्र अपने कई लंबी दूरी के फुटपाथों के लिए भी मशहूर है। इन रास्तों को एक स्क्वार्ज़वाल्डेरवियन (ब्लैक फॉरेस्ट सोसायटी) संगठन मेनेज करती है।

हीटाची सीसाइड पार्क (जापान)

हीटाची सीसाइड पार्क एक पब्लिक पार्क है जो जापान के हीटाचीनाका में स्थित है। इस पार्क की लोकप्रियता पूरी दुनिया भर में फैली हुई है। यहां पर आपको कई तरह के फूल और खूबसूरत बगीचे देखने को मिलेंगे। इतना ही नहीं बगीचे के साथ यहां मनोरंजन पार्क, साइकल चालन, बीएमएक्स ट्रैक और कई अन्य आकर्षण भी मौजूद है।

मू चांग चाई राइस (वियतनाम)

मू चांग चाई राइस वियतनाम का एक पहाड़ी इलाका है। ये हेनोइ से 200 कीमी दूर येन बाइ प्रांत में स्थित है। ये जगह चावल के खेतो के लिए काफी मशहूर है। दूर-दूर से पर्यटक इस पहाड़ी नगरी को देखने के लिए आते है। सितम्बर से अक्टूबर के बीच चावल अच्छी तरह परीपक्व हो जाते है और ये हरे-भरे पहाड़ पीले रंग की चादर ओढ़ लेते है। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर