comScore

हिजबुल का फरमान- मारे गए आतंकियों का शोक मनाएं, एक हफ्ते प्रदर्शन की धमकी

July 27th, 2017 16:26 IST
हिजबुल का फरमान- मारे गए आतंकियों का शोक मनाएं, एक हफ्ते प्रदर्शन की धमकी

टीम डिजिटल, श्रीनगर। हिज्बुल चीफ सैयद सलाउद्दीन ने जम्मू-कश्मीर में मारे गए आतंकियों का शोक मनाने का फरमान जारी कर धमकी दी है कि वो लोग बुरहान वानी की शहादत की सालगिरह पर पूरे एक हफ्ते तक प्रदर्शन करेंगे। 'जमात-उद-दावा' से जुड़े अब्दुल रहमान मक्की ने इस फरमान के समर्थन में एक वीडियो जारी कर जम्मू-कश्मीर के आतंकियों की मौत को शहादत का नाम देते हुए उनके लिए ईद पर दुआ मांगी है। आतंकी संगठनों ने 8 जुलाई से 13 जुलाई तक एक सप्ताह प्रदर्शन की भी चेतावनी दी। बता दें कि 8 जुलाई 2017 को बुरहान वानी को मरे 1 साल पूरा हो जाएगा।

पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन 'जमात-उद-दावा' के सरगना हाफिज सईद का साला अब्दुल रहमान मक्की जारी वीडियो में अपने साथियों के साथ रविवार (25 जून) को कश्मीर में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए आतंकवादियों के लिए नमाज पढ़ रहा है। वीडियो में रविवार (25) जून को मुठभेड़ में मारे गए लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों के लिए गायबाना नमाज-ए-जनाजा पढ़ी जा रही है। वीडियो में कहा जा रहा है कि अगर आप कश्मीर में लड़ रहे लश्कर के लोगों के लिए कुछ और न कर सकें तो उनके लिए दुआ करें। एक हफ्ते पहले भी मक्की का एक वीडियो यूट्यूब पर सामने आया था, जिसमें वो भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती देते हुए कश्मीर को 'आजादी' दिलाने की बात कहता नजर आया था। वीडियो पाकिस्तान के फैसलाबाद का था जहां मक्की पत्रकारों से बात कर रहा था। वीडियो में मक्की ने पत्रकारों से कहा कि अगर मीडिया चाहे तो कश्मीर को दो-तीन से हफ्ते में 'आजादी' मिल सकती है।

कौन है मक्की : माना जाता है कि हाफिज की गैर-मौजूदगी में 'जमात-उद-दावा' और 'लश्कर-ए-तैयबा' का नेतृत्व मक्की ही कर रहा है, जो साल 2008 में हुए मुंबई हमलों के मुख्य आरोपी हाफिज सईद का साला है। यह 'लश्कर-ए-तैयबा' के माध्यम से कश्मीर घाटी में भी आतंकवाद फैलाने का काम करता है। अमेरिका ने साल 2014 में ही 'जमात-उद-दावा' को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी संगठन घोषित किया था। बावजूद इसके पाकिस्तानी सरकार इस "नापाक" संगठन को पाल रही है। 

आतंकियों को पोस्टर में बताया शेर :  बुरहान के दोस्त और उत्तराधिकारी सबजार को 'त्राल एनकाउंटर' में मार गिराया गया था। अब तक 11 आतंकवादियों में से 9 मारे जा चुके हैं। सोमवार को ईद के दिन इन 9 आतंकियों के शहादत वाले पोस्टर पुलवामा में भी जगह-जगह लगाए गए हैं, जिनमें बुरहान वानी, आदिल खांडे, नसीर पंडित, अफ्फाक भट्ट, सबजार भट्ट, अनीस, इशफाक डार, वसीम मल्लाह और वसीम शाह नजर आ रहे हैं। इन पोस्टरों में इन सभी आतंकियों को 'लायन ऑफ कश्मीर' लिखा गया है।

आतंक में भाग लेने : हिज्बुल चीफ सैयद सलाउद्दीन के इस ऐलान से जुलाई में एक हफ्ते तक घाटी के और सुलगाने के आसार हैं। आतंकी संगठन कुछ और नापाक हरकतों को अंजाम देने की फिराक में लग रहे हैं। जम्मू-कश्मीर में लगातार बिगड़ते हालात के बीच सलाउद्दीन ने हुर्रियत जमात और हुर्रियत पसंद के आवाम से हफ्ते भर तक होने वाले आगामी प्रोग्राम को सफल बनाने की अपील की है, जो एक तरह से आतंक को बढ़ावा देने की ही अपील है। 

ईद पर भी नहीं थमी हिंसा : ईद के मौके पर कश्मीर के दक्षिणी हिस्से के जिलों पुलवामा, अनंतनाग, शोपिंया समेत कई इलाकों में हिंसक प्रदर्शन हुए हैं। इन प्रदर्शनों के दौरान भीड़ द्वारा सुरक्षाबलों पर पथराव किए जाने की ख़बरें हैं। पथराव में सीआरपीएफ के दो जवान सहित 10 लोग घायल हुए हैं। 

कमेंट करें
Survey
आज के मैच
IPL | Match 36 | 20 April 2019 | 04:00 PM
RR
v
MI
Sawai Mansingh Stadium, Jaipur
IPL | Match 37 | 20 April 2019 | 08:00 PM
DC
v
KXIP
Feroz Shah Kotla Ground, Delhi