comScore
Dainik Bhaskar Hindi

भारत-रूस मिलकर करेंगे आतंकवाद का खात्मा, समझौते पर हस्ताक्षर 

BhaskarHindi.com | Last Modified - November 28th, 2017 10:17 IST

1.1k
0
0

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह अपने 3 दिन के रूस दौरे पर मास्को पहुंच चुके हैं। गृह मंत्री राजनाथ सिंह और रूस के आंतरिक सुरक्षा मंत्री कॉलोकोत्सेव की मौजूदगी में भारत और रूस के बीच आतंकरोधी समझौता हुआ। इस मौके पर दोनों देशों ने आतंकवाद पर निशाना साधते हुए कहा कि आतंकवाद केवल आतंकवाद होता है यह किसी भी प्रकार से अच्छा नहीं होता। हमें आतंकवाद से निपटने की हर मुमकिन कोशिश करनी होगी।

गौरतलब है कि राजनाथ सिंह अपने 3 दिन के रूस दौरे पर गए हैं। आतंकरोधी समझौते में तय हुआ कि दोनों देश आतंकवाद से लड़ने के लिए सूचनाओं के आदान प्रदान से लेकर पुलिस बलों को प्रशिक्षण देने तक हर संभव मद्द करेंगे। 27-29 नवंबर तक होने वाले इस दौरे में होम मिनिस्टर रूस के साथ कई अहम समझौते पर बातचीत करेंगे। बता दें कि होम मिनिस्टर के तौर पर राजनाथ सिंह का ये पहला दौरा है। इस दौरे पर दोनों देशों ने कहा कि एक दूसरे के साथ मजबूती से खड़े रहेंगे और इस मौके पर नारकोटिक्स की तस्करी संबंधी मामलों पर भी चर्चा की गई। बताया जा रहा है कि दोनों देशों के बीच सहमति से नई तकनीकों के सहारे खुफिया बल को मजबूती दी जाएगी और आतंकवाद पर करारा प्रहार किया जाएगा।

क्या होगा इस दौरे में?
27 से 29 नवंबर तक चलने वाले इस दौरे के लिए राजनाथ सिंह रविवार को रूस रवाना हुए थे। इस दौरे के दौरान राजनाथ सिंह ने रूस के होम मिनिस्टर व्लादिमीर कोलोकोल्तसेव से मुलाकात की और आतंकरोधी समझौते पर सिग्नेचर किए। राजनाथ सिंह इस दौरे में रूसी डिफेंस मिनिस्टर व्लादिमीर पीचकोव से भी मुलाकात करेंगे। इस दौरे में दोनों देशों के बीच कई बायलेटरल मीटिंग्स होने की भी उम्मीद है। 

कैबिनेट से मिल चुकी है मंजूरी

इससे पहले बुधवार को पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट मीटिंग में इंडिया और रूस के बीच आतंकवाद और संगठित अपराध से निपटने में सहयोग संबंधी समझौते पर सिग्नेचर करने को मंजूरी दे दी है। ये समझौता अक्टूबर 1993 में हुए समझौते की जगह लेगा। इस समझौते के तहत रूस, भारत में आतंकवाद को रोकने में मदद करेगा और क्षेत्र में सुरक्षा को और पुख्ता बनाएगा। 

राजनाथ सिंह ने क्या कहा? 

होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह ने रूस की यात्रा पर रवाना होने से पहले एक ट्वीट किया जिसमे उन्होंने लिखा कि ‘इस साल भारत और रूस अपने डिप्लोमेटिक रिलेशन की 70वीं सालगिरह मना रहे हैं। हम रूस के साथ भारत की रणनीतिक एवं सुरक्षा साझेदारी को और गहरा करना चाहते हैं।’

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें