comScore
Dainik Bhaskar Hindi

ओखी तूफान : तमिलनाडु-केरल में 8 लोगों की मौत, लक्षद्वीप में हाईअलर्ट

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 02nd, 2017 12:04 IST

2.7k
0
0

डिजिटल डेस्क, चेन्नई। बंगाल की खाड़ी से उठा ओखी तूफान अब धीरे-धीरे लक्षद्वीप समूह को अपनी चपेट में लेने जा रहा है। गुरुवार को इस तूफान की आहट तमिलनाडु और केरल में भी देखने को मिली है। गुरुवार को दोनों राज्यों में भारी बारिश और तेज हवाएं चलती रहीं। इसकी चपेट में आकर अभी तक केरल और तमिलनाडु में 4-4 लोगों की जान जा चुकी है। राज्य सरकारों ने यहां हाईअलर्ट जारी कर दिया है।

डिफेंस मिनिस्टर ने दी ये जानकारी

वहीं 'ओखी' तूफान के आने के डिफेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने एक के बाद एक कई ट्वीट्स किए। उन्होंने ट्विटर पर जानकारी दी 'तमिलनाडु और केरल में ओखी तूफान से बचने के लिए कई नेवी शिप्स को तैनात किया गया है।' इसके बाद एक और ट्वीट में उन्होंने बताया कि 'CGS समर्थ बचाव के लिए कोच्ची पहुंच चुके हैं। सभी 7 यूनिट्स को केरल के तट पर बचाव के लिए काम करने का निर्देश दिया गया है। निर्मला सीतारमण ने ये भी बताया कि 6 वॉरशिप्स (युद्धपोत) और 2 कोस्ट गार्ड शिप्स को भी तैनात कर दिया गया है।

राहुल का दौरा टला

गुरुवार को केरल और तमिलनाडु में ओखी तूफान के पहुंचने के बाद से दोनों राज्यों को हाईअलर्ट पर रखा गया है। इस कारण कांग्रेस के वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी का दो दिन का केरल दौरा भी टल गया है। राहुल यहां पर शुक्रवार को ही पहुंचने वाले थे, लेकिन 'ओखी' की वजह से उनका ये दौरा टाल दिया गया। बता दें कि राहुल को केरल में कांग्रेस के सीनियर लीडर रमेश चेनिथल्ला की पद यात्रा के समापन कार्यक्रम में शामिल होना था। वो यहां 1 और 2 दिसंबर को रुकने वाले थे। 

रात से ही चल रही है तेज हवाएं

तमिलनाडु के कन्याकुमारी जिले में बुधवार रात से ही तेज हवाओं के साथ मूसलाधार बारिश जारी है। यहां जन जीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया है। जगह जगह पेड़ एवं खंभे उखड़े पड़े हैं। जिला प्रशासन ने लोगों से घर से बाहर नहीं निकलने के लिए कहा है। तमिलनाडु के आपदा प्रबंधन मंत्री आर बी उदय कुमार ने बताया कि राहत के लिए युद्ध स्तर पर कार्य किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कन्याकुमारी में लगभग 3000 बिजली के खंभे उखड़ गए हैं, जिसकी वजह से बिजली आपूर्ति पर प्रभाव पड़ा है। लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का काम भी जारी है।

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार दोनों राज्यों के लिए अगले 24 घंटे और लक्षद्वीप समूह के लिए अगले 2 दिन काफी अहम बताए जा रहे हैं। अगले 24 घंटे के दौरान इन भागों में बारिश के 50 से 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तूफानी हवाएं भी चलेंगी।

लक्षद्वीप की ओर बढ़ रहा है तूफान

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार श्रीलंका के पास डिप्रेशन के रूप में बना मौसमी सिस्टम प्रभावी होते हुए गुरुवार की सुबह चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया है। जानकारी के अनुसार ओखी तूफान धीरे-धीरे लक्षद्वीप की ओर बढ़ रहा है। वह अभी तमिलनाडु के तटीय इलाकों से दक्षिण में 60 किमी की दूरी पर स्थित है। प्रशासन ने अलर्ट जारी करते हुए 7 जिलों में स्कूल बंद करने का आदेश जारी कर दिया है। अगले 24 घंटे तक भारी बारिश जारी रह सकती है। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए एनडीआरएफ की दो टीमें भेज दी गई हैं। वहीं 47 टीमों को अलर्ट पर रखा गया है।

मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की सलाह

मौसम विभाग ने लक्षद्वीप के मछुआरों को कहा गया है कि वह अगले 48 घंटों तक समुद्र में मछली पकड़ने के लिए न जाएं। वहीं तमिलनाडु, केरल के मछुआरों को अगले 24 घंटे तक समुद्र से दूर रहने को कहा गया है। विभाग ने पहले ही अनुमान लगाया है कि भारी बारिश की वजह से बिजली और कम्यूनिकेशन में दिक्कत आ सकती है। पर्यावरण, पेड़ आदि को नुकसान पहुंचने की बात भी कही गई है। तमिलनाडु के कुछ इलाकों में बारिश शुरू भी हो गई है, वहां कुछ पेड़ भी टूट गए हैं।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर