comScore

2013 में लिखा था भावुक पोस्ट, 'जब तुम्हें दफनाया जा रहा होगा'

July 27th, 2017 16:22 IST
2013 में लिखा था भावुक पोस्ट, 'जब तुम्हें दफनाया जा रहा होगा'

टीम डिजिटल, अवंतिपुरा/श्रीनगर . जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले के अचबल में शुक्रवार को लश्कर आतंकवादियों के हमले में शहीद हुए एसएचओ सब इन्सपेक्टर फिरोज अहमद डार (32) का सालों पहले लिखा एक फेसबुक पोस्ट शनिवार को हुई उनकी अंतिम यात्रा के बाद देशभर के लोगों को झकझोर रहा है. भावुक कर देने वाले इस पोस्ट में 2013 में डार ने लिखा था, 'उस दिन के बारे में सोचो जब लोग तुम्हें तुम्हारी कब्र तक ले जा रहे होंगे और तुम्हारा परिवार रो रहा होगा. उस पल के बारे में सोचो जब तुम्हें तुम्हारी कब्र में डाला जा रहा होगा.'

शुक्रवार रात को शहीद को आखिरी विदाई पुलवामा स्थित उनके पैतृक गांव में दी गई. उनकी अंतिम यात्रा का मंजर सबको भावुक करने वाला था. उनके जनाजे में शामिल लोगों को उनका एक फेसबुक पोस्ट बरबस याद आ रहा था, जिसमें डार ने लोगों को अपने आखिरी सफर की कल्पना करने को कहा था. शहीद फिरोज अहमद डार का पार्थिव शरीर शुक्रवार को पुलवामा जिले स्थित उनके पैतृक गांव डोगरीपुरा पहुंचा. डार के परिवार में उनकी 2 बेटियां 6 साल की अदाह और 2 साल की सिमरन सहित पत्नी मुबीना अख्तर और उनके बुजुर्ग माता-पिता हैं.

नम आंखों से शहीद को आखिरी विदाई

ग्रामीणों ने नम आंखों से शहीद को आखिरी विदाई दी. डार को डोगरीपुरा स्थित उनके पैतृक कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया गया. गौरतलब है कि अनंतनाग जिले के अचबल में शुक्रवार को लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों ने घात लगाकर पुलिस दल पर हमला किया. इसमें थाना प्रभारी फिरोज अहमद डार समेत 6 पुलिसकर्मी शहीद हुए थे. पुलिस ने इसे लश्कर कमांडर जुनैद मट्टू के मारे जाने की बौखलाहट में किया गया हमला बताया है. शुक्रवार को ही सुरक्षा बलों ने दक्षिण कश्मीर के बिजबहेड़ा इलाके में लश्कर कमांडर मट्टू समेत 3 आतंकवादियों को एक मुठभेड़ में मार गिराया था.

18 जनवरी 2013 को लिखा फेसबुक पोस्ट

डार ने लिखा था, 'उस दिन के बारे में सोचो जब लोग तुम्हें तुम्हारी कब्र तक ले जा रहे होंगे और तुम्हारा परिवार रो रहा होगा. उस पल के बारे में सोचो जब तुम्हें तुम्हारी कब्र में डाला जा रहा होगा. क्या आपने एक पल के लिए भी रुककर स्वयं से सवाल किया कि मेरी कब्र में मेरे साथ पहली रात को क्या होगा? उस पल के बारे में सोचना जब तुम्हारे शव को नहलाया जा रहा होगा और तुम्हारी कब्र तैयार की जा रही होगी. 

कमेंट करें
qnklN