comScore

नागपुर-सेवाग्राम थर्ड लाइन का काम शीघ्र होगा पूरा

January 01st, 2019 13:29 IST
नागपुर-सेवाग्राम थर्ड लाइन का काम शीघ्र होगा पूरा

डिजिटल डेस्क, नागपुर। वर्ष 2019 में रेल्वे कई विकास कार्य को पूरा करने वाली है। इसमें सबसे महत्वपूर्ण नागपुर-सेवाग्राम थर्ड लाइन है। बुटीबोरी से सिंदी तक कुल 19 किमी की लाइन इसी साल संचालित करने का लक्ष्य रेलवे ने रखा है। इसके साकार होने के बाद जहां रेलगाड़ियों को तेजी मिलेगी, वहीं दूसरी ओर नागपुर-सेवाग्राम लाइन पर ट्रेनों के आवागमन का भार कम होगा।

लेटलतीफी ने बढ़ाई लागत राशि
वर्ष 2013 के रेल बजट में नागपुर-सेवाग्राम थर्ड लाइन की घोषणा हुई थी। उद्देश्य था मालगाड़ियों का आवागमन तेज किया जाना। लिहाजा, विदर्भ के औद्योगिक विकास के लिए यह लाइन मुख्य साबित होनेवाली है। घोषणा के इस प्रस्ताव की लागत राशि 376 करोड़ रुपए बताई गई थी। लेटलतीफी के कारण अब लागत राशि 515 करोड़ रुपए भी पार कर चुकी है।

इसलिए बेहद जरूरी
दो वर्ष पहले ही थर्ड के साथ फोर्थ लाइन की घोषणा हुई है। इस बीच नागपुर-सेवाग्राम के बीच ओवरलोड स्थिति में गाड़ियों का संचालन किया जा रहा है। नियमानुसार इस लाइन पर 65 गाड़ियां प्रतिदिन चलना चाहिए, जबकि यहां से सौ से अधिक गाड़ियां आती-जाती हैं। ऐसे में थर्ड लाइन का साकार होना बहुत ज्यादा जरूरी है।  

नीर बॉटलिंग प्लांट
नीर बॉटलिंग प्लांट अक्टूबर तक साकार हो सकता है। वर्ष 2013-14 में तत्कालीन रेल मंत्री पवन बंसल ने नागपुर मंडल अंतर्गत अजनी स्टेशन पर नीर वॉटर प्लांट की घोषणा की थी। 8 करोड़ लगात के इस प्लांट के माध्यम से प्रतिदिन 72 हजार लीटर पानी पैक करने की क्षमता थी। गत वर्ष 2018 अक्टूबर में ही इसे बनना था।  

मैकेनाइज्ड लॉन्ड्री 
वर्ष 2012-13 के रेल बजट में अजनी परिसर में मैकेनाइज्ड लॉन्ड्री बनाने की घोषणा की थी। 15 करोड़ का प्रावधान रखा गया था। वर्तमान में रोजाना 3 हजार से ज्यादा बेडरोल बाहर से धोकर आते हैं, जिस पर एक माह में  करोड़ों रुपए रेलवे खर्च कर रही है। इस वर्ष मैकेनाइज्ड लॉन्ड्री साकार होने की बात कही जा रही है। नि:संदेह रोजगार बढ़ेगा। 

19 किमी थर्ड लाइन पर गाड़ियों का संचालन हो सकेगा
नागपुर-सेवाग्राम लाइन पर आवागमन का भार कम होगा

कमेंट करें
XOT9n