comScore

235 नमाजियों की मौत के बाद मिस्त्र का पलटवार, आतंकी ठिकाने तबाह

November 25th, 2017 20:03 IST

डिजिटल डेस्क, काहिरा। मिस्त्र के उत्तरी सिनाई में शुक्रवार को सूफी मस्जिद में हुए धमाके में 235 लोगों की जान चली गई और 130 लोगों के घायल होने की खबर है। इंसानियत पर ये हमला तब हुआ जब लोग नमाज अदा कर रहे थे। अल-आरिश के करीब अल-रावदा में जिस मस्जिद पर हमला हुआ है, वह सूफी मत मानने वालों के बीच लोकप्रिय है। इतना ही नहीं, जिसने भी बाहर निकलने की कोशिश की, जीपों पर सवार होकर आए कराबी 40 बंदूकधारियों ने उन्हे गोली मार दी। मौके पर मौजूद लोगों के मुताबिक अरिश शहर के पश्चिम में बीर अल-अबद की एक प्रमुख अल रावदा मस्जिद में यह हमला हुआ है। इसके बाद कई एम्बुलेंस से बड़ी संख्या में पीड़ितों को ले जाया गया। इसे मिस्त्र का अब तक का भीषणतम आतंकी हमला बताया जा रहा है। 

मिस्त्र के राष्ट्रपति ने बुलाई आपात बैठक


गौरतलब है कि हमले के तुरंत बाद राष्ट्रपति अब्दुल फतह अल-सीसी ने एक अपातकालीन बैठक बुलाई। उसके बाद अब्दुल फतह अल सीसी ने टीवी पर दिए संबोधन में इस हमले में मारे गए और जख्मी हुए लोगों के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए कहा कि इस हमले का बदला जरूर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सेना और पुलिस हमारे शहीदों का बदला लेगी। आने वाले वक्त में सुरक्षा और स्थिरता स्थापित करने के लिए पूरा जोर लगाया जाएगा। 

तीन दिन का राष्ट्रीय शोक

 
मिस्र सरकार ने इस हमले में मारे गए लोगों के लिए तीन दिनों के राष्ट्रीय शोक का ऐलान किया है। अरब लीग के काहिरा स्थिति प्रमुख अहमद अब्दुल घेइत ने इस हमले को खौफनाक अपराध बताया है।

इजिप्ट ने हमलावरों पर किया हवाई हमला

इस भयावह आतंकी हमले का जवाब देते हुए मिस्त्र की एयर फोर्स ने हमलावरों के ठिकानों पर एयर स्ट्राइक किया है। एयर फोर्स ने उत्तरी सिनाई प्रांत में मस्जिद पर हुए हमले के कुछ ही घंटों के भीतर कई आतंकवादियों को मार गिराया और उनके वाहन तबाह कर दिए हैं।

पीएम मोदी समेत कई हस्तियों ने की कड़ी निंदा


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हमले की कड़ी निंदा करते हुए पीड़ित परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है।

वहीं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस घातक हमले पर दुख व्यक्त किया है।


इसी के ही साथ विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मिस्र के विदेश मंत्री से फोन पर बात की और उत्तरी सिनाई प्रांत में एक मस्जिद पर हुए भयावह आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा की। 

सुषमा ने ट्वीट किया, 'मैंने मिस्र के विदेश मंत्री से अभी बात की है और हमारे प्रधानमंत्री की भावनाओं से उन्हें अवगत कराया।'

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा आतंकवाद बर्दाश्त नहीं


अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस हमले को खौफनाक और कायराना करार दिया। ट्रंप ने ट्विटर पर कहा, दुनिया इस आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं कर सकती। हमें सेना की मदद से उन्हें शिकस्त देनी होगी और उनके वजूद को आधार देने वाली आतंकी विचारधारा को नकारना होगा। 

1 महीने पहले हुआ था हमला


1 महीने पहले ही यहां आतंकियों ने पुलिसकर्मियों को निशाना बनाया था। राजधानी से 135 किलोमीटर दूर गीजा प्रशासन के अल-वहात अल-बहरिया इलाके में आतंकियों ने 58 पुलिसकर्मियों को उड़ा दिया था।

बता दें कि इजिप्ट पिछले एक दशक से आतंक का सामना कर रहा है। इन घटनाओं में जुलाई 2013 के बाद से उस समय तेजी आ गई जब इस्लामिस्ट प्रेसीडेंट महम्मद मुर्सी को पद से हटा दिया गया था। इजिप्ट में आतंकी गतिविधयां ज्यादातर सिनाई प्रायद्वीप के उत्तरी हिस्से में ही केंद्रित रही हैं। इस इलाके में आईएस से संबद्ध समूहों से संघर्ष में सेना और पुलिस के सैकड़ों जवानों की मौत हो चुकी है। इजिप्ट के केंद्रीय भाग काहिरा और अलेक्जेंड्रिया में भी ऐसी आतंकी घटनाएं हुई हैं, जिनमें काप्टिक चर्चेज, सुरक्षा बलों और जजों को निशाना बनाया गया है।


 

कमेंट करें
Survey
आज के मैच
IPL | Match 42 | 24 April 2019 | 08:00 PM
RCB
v
KXIP
M. Chinnaswamy Stadium, Bengaluru