comScore
Dainik Bhaskar Hindi

गोलीकांड: आरोपी पति की भी मौत, अवैध संबंधों व कर्ज से बर्बाद हुआ परिवार

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 13th, 2018 17:31 IST

1k
0
0
गोलीकांड: आरोपी पति की भी मौत, अवैध संबंधों व कर्ज से बर्बाद हुआ परिवार

डिजिटल डेस्क, नागपुर। सक्करदरा थानांतर्गत हुए गोलीकांड में पत्नी के बाद आरोपी पति की भी मौत हो गई है। घटित प्रकरण अारोपी के अवैध संबंधों का विरोध करने तथा कर्ज में डूबे होने से हुआ। रवींद्र नागपुरे (47) का प्लायवुड खरीदी-बिक्री का काम है। उसकी दुकान भी है। रवींद्र ऐशो आराम से जीना चाहता था। किसी मित्र की पत्नी से उसके अवैध संबंध भी थे। यह बात रवींद्र की पत्नी मीना को पता चल गई थी। उसने इन संबंधों का विरोध करने पर रवींद्र उसे घर से भगाना चाहता था, लेकिन मीना मारपीट सहते हुए भी अपने दो पुत्रों के साथ रह रही थी। इस बीच रवींद्र ने अपना घर लाखों रुपए में बैंक में गिरवी रखा। कर्ज की किश्त नहीं चुकाने से हाल ही में बैंक ने मकान को जब्त कर लिया है। इस कारण करीब दो ढाई महीने पहले मीना अपने दोनों पुत्रों के साथ मायके में रहने आ गई।

इस बीच मीना ने हुड़केश्वर थाने में रवींद्र के खिलाफ शिकायत दर्ज की। उसके बाद पारिवारिक अदालत में भी केस दर्ज किया गया है। मीना का बड़ा पुत्र अनिकेत कक्षा 12वीं में है। उसकी पढ़ाई के लिए 7 हजार रुपए की जरूरत थी। घटना के एक दिन पूर्व अनिकेत ने पिता को रुपए के लिए फोन किया। मगर उसने रुपए देने से मना किया। रवींद्र का कहना था कि उसके विरोध में कोर्ट गए हो तो अब कोर्ट से ही रुपया लेना। घटना के दिन उनकी पारिवारिक कोर्ट में पेशी भी थी। सुबह 11 बजे मीना कोर्ट में पेशी पर गई, लेकिन रवींद्र नहीं आया। अगले महीने की तारीख लेकर शाम 4 बजे मीना घर आ गई। रात करीब 9 बजे मीना ने अपने पुत्रों और माता-पिता के साथ भोजन किया। उसके बाद वह सोने की तैयारी कर रही थी कि, रवींद्र वहां पर आ धमका। 

चॉकलेट के बहाने पुत्र को घर से बाहर भेजने का प्रयास 
करीब 10.30 बजे रवींद्र वहां पहुंचा। पुत्र अनिकेत को 500 रुपए दिए और चॉकलेट खाने बाहर जाने के लिए कहा। अनिकेत ने रुपए लेने और चॉलकेट की जरूरत नहीं होने की बात कही। उसके बाद रवींद्र ने पढ़ाई के लिए दस हजार और चॉकलेट के लिए 500 रुपए दिए। इसके बाद भी अनिकेत चॉकलेट खाने नहीं गया। उसके बाद रवींद्र मीना के कमरे में गया और उस पर फायर किया। अनिकेत ने दरवाजा बंद किया। भागने का मौका नहीं मिलने और पकड़े जाने के डर से रवींद्र ने खुद पर भी फायर किया। देर रात को उसकी भी मौत हो गई है। जांच जारी है। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर