comScore

MP: छापे में IT को मिले ट्रांसफर पोस्टिंग के कागज, CM कमलनाथ के OSD सहित 2 पर रेड

MP: छापे में IT को मिले ट्रांसफर पोस्टिंग के कागज, CM कमलनाथ के OSD सहित 2 पर रेड

हाईलाइट

  • मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ के ओएसडी के घर आयकर विभाग का छापा।
  • इंदौर, दिल्ली सहित 50 जगहों पर हो रही कार्रवाई।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से पहले आयकर विभाग ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के निजी सचिव सहित उनके दो करीबियों पर कार्रवाई की है। मध्य प्रदेश, दिल्ली और गोवा इन तीन राज्यों में 50 ठ‍िकानों पर आयकर विभाग ने ताबड़तोड़ कार्रवाई की। अब तक की कार्रवाई में करीब 16 करोड़ रुपए मिलने की खबर है। छापेमारी में सीएम कमलनाथ के भांजे, न‍िजी सच‍िव, पूर्व न‍िजी सच‍िव और कारोबारी सीधे न‍िशाने पर आए और एक के यहां करोड़ों रुपये के कैश भी बरामद हुए हैं। बताया जा रहा है कि ओएसडी कक्कड़ के करीबी अश्विन शर्मा के भोपाल स्थित घर से 57 प्रॉपर्टीज की रजिस्ट्रियां, डायमंड लगे पांच मोबाइल फोन और ऐसे दस्तावेज जिसमें मप्र के आईएएस अफसरों के ट्रांसफर पोस्टिंग की डिटेल और हिसाब किताब हैं, जब्त किए गए हैं।

IT के शिकंजे में कमलनाथ के करीबी​ 
सीएम कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ और सलाहकार राजेंद्र कुमार मिगलानी के दिल्ली स्थित आवास और इनसे जुड़े अन्य लोगों के ठिकानों पर छापा मारा। आयकर विभाग के 300 से ज्यादा अधिकारियों ने भोपाल, इंदौर, गोवा और दिल्ली के 35 स्थानों पर कार्रवाई की है। इस कार्रवाई में कमलनाथ के भांजे रातुल पुरी, अमिरा और मोजर बीयर कंपनी भी शामिल है।

आयकर सूत्रों के मुताबिक, ठोस इनपुट के बाद मध्यप्रदेश के भोपाल-इंदौर, गोवा और दिल्ली में एक साथ शनिवार देर रात 3 बजे कार्रवाई शुरू की गई। अमिता ग्रुप और मोजर बियर के दफ्तर भी खंगाले गए। दिल्ली में मिगलानी की दो लग्जरी कारों से डॉलर मिले हैं। इंदौर में कक्कड़ के इंदौर के विजय नगर स्थित शोरूम, बीएमसी हाइट्स स्थित ऑफिस, शालीमार टाउनशिप और जलसा गार्डन, भोपाल स्थित घर श्यामला हिल्स, प्लेटिनम कॉलोनी सहित अन्य स्थानों पर भी जांच की गई। बताया जा रहा है, सर्विस के दौरान ही कई जांच चल रही थी। प्रवीण जब पुलिस अधिकारी थे तभी उनके खिलाफ कई मामले सामने आए थे। शनिवार देर रात शुरू हुई आयकर विभाग की कार्रवाई रविवार को भी जारी रही। राजधानी दिल्ली और मध्यप्रदेश सहित कुल 50 जगहों पर छापेमारी हो रही है।

आयकर विभाग ने इस पूरी कार्रवाई में मध्य प्रदेश पुलिस की मदद नहीं ली है। सीआरपीएफ जवान सुरक्षा प्रदान कर रहे हैं। बता दें कि ऐसा पहली बार हुआ है जब सुरक्षा के लिए सीआरपीएफ की मदद ली गई है। इस छापे के तार अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर मामले से जुड़ते हुए नजर आ रहे हैं।

आयकर विभाग ने सीएम के निजी सचिव प्रवीण कक्कड़ के अलावा कमलनाथ के करीबी राजेंद्र कुमार मिगलानी के ठिकाने पर भी छापेमारी की। दिल्ली में मिगलानी के ग्रीनपार्क स्थित घर पर भी आईटी ने छापा मारा। प्रवीण कक्कड़ के भांजे प्रतीक जोशी के भोपाल आवासीय परिसर में छापेमारी के दौरान कैश भी मिला है। 


भोपाल में प्लेटिनम प्लाजा की 6वीं मंजिल पर प्रतीक जोशी और अश्विन शर्मा का आवास है। दोनों ही प्रवीण कक्कड़ के बेहद करीबी माने जाते हैं। यहीं पर दोनों के ऑफिस भी हैं। कक्कड़ के भोपाल में रहने के दौरान दोनों उनसे मिलने आते थे। प्रतीक के घर से बड़ी मात्रा में नकदी जब्त की गई। अश्विन के पास दो दर्जन लग्जरी कारें मिलीं।

आयकर विभाग के सूत्रो के मुताबिक, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी, कमलनाथ के भांजे रातुल पुरी, आमिरा ग्रुप और मोजर बेयर से जुड़े लोकेशन पर छापेमारी की गई है। भोपाल, इंदौर, गोवा और दिल्ली के 35 जगहों पर छापेमारी हुई। गौरतलब है क‍ि सीएम कमलनाथ के भांजे रातुल पुरी, मनी लॉन्ड्रिंग मामले में फंसे हुए हैं। रातुल पुरी का नाम राजीव सक्सेना से पूछताछ के दौरान छिपा लिया गया था। राजीव सक्सेना का दुबई से अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर डील मामले में प्रत्यर्पण हुआ था।

बता दें कि सीएम के निजी सचिव प्रवीण कक्कड़ को पुलिस विभाग में रहने के दौरान राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया था। इसके बाद उन्होंने 2004 में अपने नौकरी छोड़ दी और कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया के ओएसडी बन गए। ऐसा माना जाता है कि, 2015 में कांतिलाल भूरिया को रतलाम-झाबुआ सीट पर मिली जीत प्रवीण कक्कड़ द्वारा बनाई रणनीति से मिली। दिसंबर 2018 में वे सीएम कमलनाथ के ओएसडी बने थे।

कमेंट करें
hfK5J