comScore
Dainik Bhaskar Hindi

9000 मोर्टार दागकर पाक की चौकियां और तेल डिपो तबाह

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 06th, 2018 15:57 IST

9.8k
0
0

डिजिटल डेस्क, जम्मू। पाकिस्तान की तरफ से गुरुवार से की जा रही फायरिंग में पांच सुरक्षाकर्मियों समेत 12 लोगों की मौत हो चुकी है। बीएसएफ पाकिस्तानी की गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दे रही है। इसी क्रम में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान की तरफ से बिना उकसावे के किए जा रहे संघर्ष विराम का मुंहतोड़ जवाब दिया है। बीएसएफ ने जवाबी कार्रवाई करते हुए पिछले चार दिनों में बीएसएफ ने मोर्टार के 9000 ये ज्यादा गोले दागे। इस दौरान कई जगहों पर दुश्मन की चौकियों और पाकिस्तानी रेंजर्स के तेल डिपो को तबाह किया गया।

अंतरराष्‍ट्रीय सीमा पर तनावपूर्ण स्थिति  

बीएसएफ के वरिष्‍ठ अधिकारियों ने बताया कि जम्‍मू क्षेत्र में 190 किलोमीटर लंबी अंतरराष्‍ट्रीय सीमा पर स्थिति काफी तनावपूर्ण है। बीएसएफ के एक प्रवक्ता दो छोटे वीडियो क्लिप्स भी जारी किए हैं जिनमें कथित तौर पर तेल डिपो को तबाह होते दिखाया गया है। बता दें कि पाकिस्तान द्वारा इलाके की शांति भंग करते हुए बीएसएफ की चौकियों और नागरिक इलाकों को निशाना बनाया गया था। जम्मू सीमा का ‘चिकेन नेक’ इलाका भी पाकिस्तानी बलों की गोलाबारी का निशाना बना है जो अब तक इससे अछूता था। यह जगह बीएसएफ की मकवाल और कानाचक सीमा चौकी के पास है।

‘हाई अलर्ट’ पर सीमा चौकियां

सूत्रों के अनुसार, भारतीय बलों ने सीमा पार अग्रिम चौकियों पर रेंजर्स और पाकिस्तानी सेना के वरिष्ठ कमांडरों की आवाजाही भी देखी है। अधिकारियों ने कहा, ‘‘जहां तक हम समझते हैं यह दौरा पाकिस्तानी कमांडरों ने अपने सैनिकों का उत्साह बढ़ाने के लिए किया है जिन्हें भारत की जवाबी कार्रवाई में भारी नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि पाक रेंजर्स ने बीएसएफ से बातचीत और फ्लैग मीटिंग से अब तक इंकार किया है। जम्मू के सभी इलाकों में बीएसएफ की सीमा चौकियों को ‘हाई अलर्ट’ पर रखा गया है। इसके साथ ही वरिष्ठ कमांडरों को निर्देश दिए गए हैं कि कम से कम अगले एक हफ्ते तक सीमा पर ही रहें।   

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download