comScore

किसी भी सतह से मार करने वाली आकाश मिसाइल का भारत ने किया सफल परीक्षण

December 06th, 2017 12:37 IST
किसी भी सतह से मार करने वाली आकाश मिसाइल का भारत ने किया सफल परीक्षण

डिजिटल डेस्क, ओडिशा। भारत ने सुपरसोनिक मिसाइल आकाश का मंगलवार को सफल परीक्षण किया है। 'आकाश' में करीब 25 किलोमीटर की दूरी तक निशाना साधने की क्षमता है। सतह से हवा में मार करने वाली सुपरसोनिक मिसाइल ने एक मानवरहित वायुयान 'बंशी' को सफलतापूर्वक निशाने पर लिया।

स्वदेशी रेडियो फ्रीक्वेंसी सीकर से लैस है मिसाइल

बालेश्वर के पास चांदीपुर में इंटीग्रेटिड टेस्ट रेंज आईटीआर के परिसर-3 से मंगलवार दोपहर बाद अत्याधुनिक स्वदेश निर्मित मिसाइल का परीक्षण किया गया। यह सुपरसोनिक मिसाइल सतह से हवा में मार करने वाली पहली मिसाइल है जिसमें स्वदेशी रेडियो फ्रीक्वेंसी सीकर है और इसे कम दूरी की सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल के रूप में सेना में शामिल किया जा रहा है।

रैमजेट राकेट सिस्टम का किया गया है इस्तेमाल

आकाश मिसाइल को रक्षा अनुसंधान और विकास संस्थान (DRDO) ने विकसित किया है। इसके सिस्टम को इस तरह से डिजाइन गिया गया है कि कई तरफ से आते खतरों को एकसाथ आसानी से निशाना बनाया जा सके। आकाश मिसाइल में ऑटोपायलट सिस्टम से लैस रैमजेट राकेट सिस्टम का इस्तेमाल किया गया है। जो कि मिसाइल की मारक क्षमता को सटीक बना देता है।  आकाश मिसाइल लड़ाकू विमानों, क्रूज़ मिसाइल और हवा से जमीन पर वार करने वाले बलिस्टिक मिसाइलों को भी आसानी से निशाना बनाने में सक्षम है।

किसी भी सतह से प्रहार करने की क्षमता

एक ऑफिशियल स्टेटमेंट में कहा गया, "तटीय क्षेत्र में रडारों, टेलीमेट्री और इलेक्ट्रो-ऑप्टिकल प्रणालियों ने मिसाइल के सभी स्वास्थ्य मानकों पर नजर रखी। रक्षा सूत्रों ने कहा कि सफल परीक्षण प्रक्षेपण के साथ भारत ने किसी भी तरह की सतह से हवा में प्रहार करने वाली मिसाइल बनाने की क्षमता हासिल कर ली है।

वियतनाम को दिया ऑफर

आकाश मिसाइल की मारक क्षमता 25 किलोमीटर है और यह 55 किलोग्राम तक का आयुध अपने साथ ले जा सकती है। आकाश मिसाइल के लिए भारत ने वियतनाम को ऑफर दिया है। चीन से मुकाबला करने लिए ये ऑफर दिया गया है। आकाश मिसाइल किसी भी मौसम में काम कर सकती है और मीडियम रेंज एयर टारगेट को निचले, मध्यम और ऊंचाई पर टारगेट कर सकती है।


रक्षा मंत्री के सलाहकार जी. सतीश रेड्डी ने आकाश मिसाइल के सफल परीक्षण के लिए डीआरडीओ के वैज्ञानिकों और सेना को बधाई दी है। परीक्षण के मौके पर डीआरडीओ के डायरेक्टर जनरल (मिसाइल),  रक्षा मंत्री के सलाहकार जी. सतीश रेड्डी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

कमेंट करें
cQPJy