comScore

भारत के सर्वश्रेष्ठ टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस एशियन गेम्स में हिस्सा नहीं लेंगे

August 17th, 2018 10:58 IST
भारत के सर्वश्रेष्ठ टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस एशियन गेम्स में हिस्सा नहीं लेंगे

हाईलाइट

  • 18वें एशियन गेम्स में टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस हिस्सा नहीं लेंगे।
  • ‘विशेषज्ञ’ जोड़ीदार नहीं मिलने के कारण एशियाई खेलों में जाने से इंकार कर दिया है।
  • पेस ने भारत के लिए एशियाई खेलों में 5 गोल्ड समेत 8 मेडल जीते है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। इंडोनेशिया में 18 अगस्त से शुरू होने जा रहे 18वें एशियन गेम्स में भारत के सर्वश्रेष्ठ टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस अब एशियन गेम्स का हिस्सा नहीं होंगे। लिएंडर पेस ने डबल्‍स में ‘विशेषज्ञ’ जोड़ीदार नहीं मिलने के कारण एशियाई खेलों में जाने से इंकार कर दिया है। पेस को एकल खिलाड़ी सुमित नागल के साथ जोड़ी बनाने को कहा गया था, लेकिन वे इसके लिए तैयार नहीं थे। 

अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) ने देश के शीर्ष युगल खिलाड़ियों रोहन बोपन्ना और दिविज शरण की जोड़ी बनाई है। पेस पहले ही टॉप योजना से बाहर किए जाने से नाराज थे। लेकिन इस 45 वर्षीय खिलाड़ी ने एशियाई खेलों में खेलने के लिए हां कर दिया था। पेस ने भारत के लिए एशियाई खेलों में 5 गोल्ड समेत 8 मेडल जीते है। 

पेस ने पीटीआई को भेजे बयान में कहा कि बड़ी मायूसी के साथ मैं यह कह रहा हूं कि मैं इंडोनेशिया में आगामी एशियाई खेलों में नहीं खेलूंगा। उन्होंने कहा कि इतने हफ्तों पहले से लगातार आग्रह करने के बावजूद यह दुखद है कि हम एशियाई खेलों में दूसरी मजबूत युगल जोड़ी के लिए युगल विशेषज्ञ को टीम में शामिल नहीं कर पाए। दिविज और बोपन्ना के साथ खेलने का फैसला करने के बाद कप्तान जीशान अली के पास पेस की जोड़ी नागल या रामकुमार रामनाथन के साथ बनाने के अलावा कोई विकल्प नहीं था। रामकुमार मुख्य तौर पर सिंगल्स के खिलाड़ी हैं। वहीं इन दिनों नागल की फॉर्म बहुत खराब चल रही है। इस कारण से पेस एशियन गेम्स में जाने से इंकार कर रहे हैं। 

पेस ने सवाल उठाया कि आखिर एआईटीए दो विशेषज्ञ युगल टीमें एशियन गेम्स में क्यों नहीं उतार सकता। उन्होंने कहा कि रामकुमार काफी अच्छे खिलाड़ी हैं और मैं उसके साथ डबल्‍स जोड़ी बनाना पसंद करता, लेकिन यह ध्यान में रखते हुए कि उसके पास एकल में पदक जीतने का सुनहरा मौका है। इसलिए यह सही नहीं होगा कि मैं उसकी सर्वश्रेष्ठ स्पर्धा से उसका ध्यान भटकाऊं। 

पेस ने पिछले दो एशियाई खेलों में भाग नहीं लिया था। पर वह इस बार इस प्रतियोगिता से वापसी करने वाले थे। पेस ने कहा कि हमारे युगल विशेषज्ञ श्रीराम बालाजी, विष्णु वर्धन, पूरव राजा और जीवन नेदुनचेझियान मौजूदा सत्र में काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। इनमें से कोई भी खिलाड़ी एशियाई खेलों के लिए टीम में शामिल होने का हकदार था। पेस ने कहा, उनकी गैरमौजूदगी से भारत की पदक जीतने की संभावना पर कोई असर नहीं पड़ेगा।बल्की मेरी गैरमौजूदगी में बाकी खिलाड़ियों को अधिक स्पर्धाएं खेलने को मौका मिलेगा। 

कमेंट करें
T0jsB