comScore
Dainik Bhaskar Hindi

'इंदु सरकार' को गांधी परिवार की इजाजत नहीं चाहिए: पहलाज निहलानी

BhaskarHindi.com | Last Modified - July 27th, 2017 16:11 IST

1.1k
0
0
'इंदु सरकार' को गांधी परिवार की इजाजत नहीं चाहिए: पहलाज निहलानी

टीम डिजिटल,नई दिल्ली. महिलाओं के विषयों से जुड़ी फिल्‍मों को 'असंस्‍कारी' होने के चलते बैन करने वाले सेंसर बोर्ड के अध्‍यक्ष पहलाज निहलानी का कहना है कि 'इंदु सरकार' को कांग्रेस या गांधी परिवार में से किसी से भी एनओसी लेने की जरूरत नहीं है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मधुर भंडारकर की इस फिल्म के ट्रेलर में इमर्जेंसी पर हुए करारे प्रहार से उत्साहित़ होकर उन्होने ऐसा कहा है.

निहलानी ने कहा, 'मैंने मधुर के ट्रेलर को देखा और मैं उन्हें भारतीय राजनीति के सबसे शर्मनाक अध्यायों में एक पर से पर्दा हटाने के लिए बधाई देना चाहता हूं. यह पूरे विश्व में देश को शर्मसार करने वाला समय था. बहुत से बड़े नेताओं को इस दौरान जेल जाना पड़ा. भारतीय लोगों के मनोबल को कुचला गया था.'

बता दें कि वास्तविक घटनाओं और परिस्थितियों पर बनने वाली फिल्मों को संबंधित लोगों से एनओसी लिए बिना पास नहीं किए जाने का नियम है. इस नियम के बारे में पूछे जाने पर सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा, 'इंदु सरकार किसी का नाम नहीं है. इंदिरा गांधी या संजय गांधी या किसी और का ट्रेलर में कोई जिक्र नहीं है. आप केवल शारीरिक समानता की वजह से फिल्म में उन लोगों के उल्लेख का अनुमान लगा रहे हैं. मैंने ट्रेलर में किसी के नाम का जिक्र नहीं सुना. अगर फिल्म में उनका उल्लेख किया गया है, तो हम देखेंगे. फिलहाल, मुझे खुशी है कि किसी ने इमर्जेंसी पर एक फिल्म बनाई है. यह हमारे राजनीतिक इतिहास में 'काला धब्बा' है.'

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download