comScore

अंतरर्राज्यीय चोर गिरोह गिरफ्तार, निशाने पर थे सराफा व्यापारी

अंतरर्राज्यीय चोर गिरोह गिरफ्तार, निशाने पर थे सराफा व्यापारी

डिजिटल डेस्क, सतना। झांसी के पास ट्रेन में 50 लाख की चोरी कर फरार हुए शातिर बदमाशों का अगला निशाना सतना के सराफा व्यापारी थे। अपनी योजना को अंजाम देने के लिए अंतर्राज्यीय गिरोह के दो सदस्य कई दिनों से बाजार में रेकी कर रहे थे। यहां पर एक लॉज में उन्होंने ठिकाना बना रखा था। लेकिन उनके मंसूबे तब नाकाम हो गए, जब सिटी कोतवाली पुलिस ने झांसी जीआरपी की सटीक सूचना पर 4 दिन की पतासाजी के बाद मंगलवार शाम को पन्नीलाल चौक के पास दबिश देकर दोनों बदमाशों को दबोच लिया। इन अपराधियों से एडिशनल एसपी गौतम सोलंकी और सिटी कोतवाली मोहित सक्सेना ने कड़ी पूछताछ की, परंतु जिले या संभाग में किसी घटना में संलिप्तता सामने नहीं आई। गिरोह का एक सदस्य मराठी बोल रहा था, जिसके बयान को समझने के लिए उसकी भाषा के जानकार को भी बुलाया गया था। 

ले गई झांसी जीआरपी

सतना में पकड़े गए दोनों बदमाशों को आगे की जांच के लिए झांसी की जीआरपी टीम  रात को ही अपने साथ ले गई। उक्त टीम सोमवार को पीडि़तों के साथ यहां आ चुकी थी। उनके सहयोग के लिए सीएसपी विजय प्रताप सिंह की टीम में शामिल कई पुलिस जवानों को लगाया गया था। बताया गया है कि यह गिरोह अलग-अलग राज्यों में कई बड़ी चोरियों को अंजाम दे चुका है। उनके निशाने पर सराफा और कीमती रत्नों के व्यापारी रहते हैं। माना जा रहा है कि सतना पुलिस की मदद से कई अनसुलझे मामले खुल सकते हैं। 

दुष्कृत्य के बाद युवती को आत्महत्या के उकसाया

पन्ना जिले के सलेहा थाना क्षेत्र की 18 वर्षीय युवती के साथ दुराचार करने के बाद आत्महत्या के लिये उकसाने के आरोपी  को पुलिस ने तीन माह की कोशिशों के बाद जसो में दबिश देकर पकड़ लिया। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी धर्मेन्द्र कुशवाहा उर्फ हीरो कुशवाहा पुत्र बब्बू कुशवाहा निवासी जसो ने तीन माह पूर्व युवती को बहला-फुसलाकर हवश का शिकार बना लिया था। इसके बाद भी आरोपी लगातार उसे परेशान कर रहा था, जिससे तंग होकर पीडि़ता ने आत्महत्या कर ली थी। इस मामले की विवेचना के बाद पुलिस ने आईपीसी की धारा 376 और 306 के तहत कायमी कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी थी, लेकिन वह पकड़ में नहीं आ रहा था। ऐसे में स्थानीय पुलिस व मुखबिरों की मदद ली गई। काफी इंतजार के बाद मंगलवार सुबह खबर मिली की आरोपी अपने गांव के बस स्टैंड से बाहर भागने की फिराक में वाहन का इंतजार कर रहा है। तब सलेहा थाने की टीम ने दबिश देकर उसे दबोच लिया। आरोपी को यहां थाने लेजाकर पूछताछ के बाद न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

कमेंट करें
huVz7