comScore

ट्रेन में बिछड़ा ईरानी जोड़ा, गूगल ट्रांसलेटर की मदद से मिले

BhaskarHindi.com | Last Modified - February 13th, 2018 18:37 IST

ट्रेन में बिछड़ा ईरानी जोड़ा, गूगल ट्रांसलेटर की मदद से मिले

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नागपुर स्टेशन पर पति से बिछड़ी विदेशी महिला को गूगल ट्रांसलेटर की मदद से मिलवाया गया। दरअसल सोमवार को अजब स्थिति पैदा हो गई थी। जब कुली एक विदेशी महिला यात्री को आरपीएफ निरीक्षक वी.एन. वानखेड़े के पास लाया। महिला की भाषा समझ नहीं आ रही थी। इस कारण अधिकारियों ने एप का सहारा लिया। जिसके बाद कंट्रोल रूम से संपर्क कर ट्रेन में बैठे पति की महिला से बात कराई गई। वो अपनी पत्नि को पाकर बहुत खुश हुआ। उसने सभी का तहे दिल से धन्यवाद किया।

भाषा समझने में हो रही थी कठिनाई
महिला की भाषा न तो आरपीएफ समझ पा रही थी और न ही स्थानीय भाषा को वह महिला। जानकारी टीम के उपनिरीक्षक एच.एल.मीणा तक पहुंची। उन्हें पता चला कि उक्त ईरानी महिला को केवल पर्शियन भाषा आती है। उन्होंने विवेक का इस्तेमाल करते हुए मोबाइल में गूगल मोबाइल ट्रांसलेटर एप का सहारा लिया और महिला से बातचीत की।

यह बात आई सामने
महिला की बात को ट्रांसलेटर एप ने अनुवादित कर जानकारी उपलब्ध कराई कि महिला अपने पति के साथ ट्रेन नंबर 12809 मुंबई हावड़ा मेल से कोलकात्ता जा रही थी। जब ट्रेन नागपुर स्टेशन पहुंची तो कुछ सामान लेने वह स्टेशन पर उतरी और दूसरे प्लेटफॉर्म पर पहुंच गई। इस बीच, उसकी ट्रेन निकल गई। उसे कोच और बर्थ के बारे में भी जानकारी नहीं है। वह अपने पति से बिछड़ गई है। आरपीएफ के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त ज्योति कुमार सतीजा को पूरी जानकारी दी गई। पूरा महकमा सक्रिय हुआ।

रेलवे प्रशासन के प्रति शुक्रिया अदा
स्टेशन निदेशक के माध्यम से दक्षिण पूर्व मध्य रेल कंट्रोल के माध्यम से ट्रेन के ऑन ड्यूटी सीटीआई हरिकिशन को मोबाइल पर जानकारी दी गई। हरिकिशन ने सभी कोचों की जांच की तो उन्हें एस-2 में ईरानी महिला के पति 47 वर्षीय तहेरियान मिर्जा बेकी  बर्थ नंबर 11 पर मिले। वहीं से उनकी उनकी पत्नी से बात कराई गई। उसके पति को भंडारा स्टेशन से नागपुर स्टेशन ट्रेन नंबर 12810 से लाया गया और पत्नी से मिलाया गया। अपनी पत्नी को सही सलामत और पूरी सुरक्षा के बीच पाकर ईरानी महिला के पति ने टीम आरपीएफ और रेलवे प्रशासन के प्रति शुक्रिया अदा किया।

नागपुर में बिताया दिन
मिलने के बाद ईरानी जोड़े को दोबारा ट्रेन में बैठने के लिए कहा गया तो उन्होंने नागपुर में ही एक दिन ठहरने की इच्छा जाहिर की। इसके बाद उन्हें स्थानीय होटल में छोड़ने का प्रबंध भी कराया गया।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

loading...

आज के मैच