comScore
Dainik Bhaskar Hindi

भगवान जगन्नाथ हुए बीमार, अब 15 दिन पिएंगे आयुर्वेदिक काढ़ा

BhaskarHindi.com | Last Modified - August 08th, 2018 19:14 IST

807
0
0
भगवान जगन्नाथ हुए बीमार, अब 15 दिन पिएंगे आयुर्वेदिक काढ़ा

टीम डिजिटल, पुरी. भगवान जगन्नाथ बीमार हो गए हैं बुखार आ जाने की वजह से उनका इलाज किया जा रहा है. जी हां, अब 15 दिन आराम करने के बाद ही जगन्नाथ भगवान दर्शन देंगे. दरअसल, परम्परा के अनुसार ज्येष्ठ माह की पूर्णिमा तिथि को भगवान जगन्नाथ को स्नान कराया जाता है. जिसके बाद वे बीमार हो जाते है. आराम के लिए 15 दिन तक मंदिरों के पट भी बंद कर दिए जाते हैं और उनकी सेवा की जाती है. ताकि वे जल्दी ठीक हो जाएं. जिस दिन वे पूरी तरह से ठीक होते है उस दिन जगन्नाथ यात्रा निकलती है. पुरी की रथ यात्रा पूरी दुनिया में प्रसिद्द है और इसमें शामिल होने के लिए विदेशों से भी लीग आते हैं. 

एक कथा के अनुसार अनुसार एक बार भगवान जगन्नाथ से मिलने उनका एक भक्त लंबी यात्रा करके आया और बीमार पड़ गया. भगवान उसकी भक्ति से इतने प्रसन्न हुए कि वह ठीक हो गया और भगवान बीमार. भगवान अर्द्घरा‌त्रि को बीमार होते हैं. इस दौरान भगवान को आयुर्वेदिक काढ़े का भोग लगाया जाता है. माना जाता है भगवान जगन्नाथ की लीलाएं मनुष्य जैसी है और मनुष्य रूप में ही रहते है. इसी कारण से मनुष्य पर लागू होने वाले सभी प्राकृतिक नियम उन पर भी लागू होते है. इसी वजह से वे बीमार हो जाते है. 

बीमारी की वजह से मंदिर में इन 15 दिनों तक कोई भी घंटे आदि नहीं बजेंगे. यहीं नहीं अन्न का भी कोई भोग नहीं लगेगा.आयुर्वेदिक काढ़े ही प्रसाद में रूप में अर्पित किया जाता है. जगन्नाथ धाम मंदिर में तो भगवान की बीमारी की जांच करने के लिए हर दिन वैद्य भी आते हैं. काढ़े के अलावा फलों का रस भी दिया जा रहता है.

दिन के दो बार आरती से पहले भगवान जगन्नाथ को काढ़े का भोग लगाया जाता है. वहीं रोज शीतल लेप भी लगया जाता है. बीमार के दौरान उन्हें फलों का रस, छेना का भोग लगाया जाता है और रात में सोने से पहले मीठा दूध अर्पित किया जाता है. भगवान 24 जून को स्वस्‍थ्‍ा हो जाएंगे और मंदिरों के पट खुल जाएंगे. लगाया. 25 जून को भगवान अपनी बहन सुभद्रा और भाई बलराम के साथ भक्तों को दर्शन देने के लिए मंदिर से निकलेंगे. यानी उस दिन जगन्नाथ यात्रा निकलेगी. जहां वे अपनी मौसी के घर जाएंगे और नौ दिन रहेंगे. 3 जुलाई को भगवान की घर वापसी होगी. इस यात्रा में भक्तों का सैलाब देखने मिलता है. 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download