comScore

नए कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर बोले जनार्दन द्विवेदी, CWC जल्द निर्णय लें


हाईलाइट

  • कांग्रेस के नए अध्यक्ष को लेकर चल रहीं बैठकों पर जनार्दन द्विवेदी ने सवाल उठाए
  • कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने पूछा, ये बैठकें किस अधिकार से हो रही हैं?
  • वर्किंग कमिटी की बैठक बुलाकर इस पर जल्द निर्णय होना चाहिए

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव और सोनिया गांधी के करीबी रहे जनार्दन द्विवेदी ने कांग्रेस नेतृत्व पर सवाल उठाए हैं। राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद कांग्रेस के नए अध्यक्ष को लेकर चल रहीं पार्टी की बैठकों पर जनार्दन द्विवेदी ने सवाल उठाते हुए पूछा है कि, ये बैठकें किस अधिकार से हो रही हैं? उन्होंने नए अध्यक्ष पर जल्द फैसला लेने का सुझाव दिया है। इतना ही नहीं उन्होंने चुनाव में हार के कारणों को लेकर कहा, पार्टी की हार का कारण बाहर नहीं, भीतर है। 

मंगलवार को CWC की बैठक के बाद कांग्रेस नेता जनार्दन द्विवेदी, राहुल गांधी को इस्तीफा देने से पहले अगले अध्यक्ष पर फैसला करने की कोई व्यवस्था बनानी चाहिए थी। उन्होंने कहा, पार्टी अध्यक्ष के द्वारा कुछ संवैधानिक तंत्र बनाया जाना चाहिए, जिसमें वर्किंग कमिटी के सदस्यों की राय ली जानी चाहिए थी। वर्किंग कमिटी की बैठक बुलाई जानी चाहिए और इस पर जल्द निर्णय होना चाहिए।

नए अध्यक्ष को लेकर पार्टी के अंदर चल रही बैठकों पर जनार्दन द्विवेदी ने सवाल उठाते हुए पूछा, ये बैठकें किस अधिकार से हो रही हैं? राहुल गांधी इस्तीफा देते हैं और पार्टी ज्यों की त्यों चलती रहती है। जब तक आप छोड़ने के लिए नहीं तैयार तब आप पाने के हकदार नहीं। राहुल का इस्तीफा आदर्श स्थापित करता है मगर पार्टी में जो जहां बैठा है वो छोड़ना नहीं चाहता। 

द्विवेदी ने कहा, जिस संगठन में आपने पूरा जीवन लगाया, उसकी स्थिति देख कर पीढ़ा होती है। पार्टी की हार का कारण भीतर है, बाहर नहीं। पार्टी में कई ऐसी बातें हुईं, जिससे मैं सहमत नहीं था और ये मैंने पार्टी नेतृत्व को बताया था। आर्थिक आरक्षण ऐसा मसला था, मैने अध्यक्ष को कहा था कि मैं आपसे सहमत नहीं हूं। गौरतलब है कि, जनार्दन द्विवेदी सबसे लंबे समय तक कांग्रेस महासचिव रहे हैं। उन्होंने 2018 में स्वेच्छा से रिटायरमेंट लिया था। जनार्दन द्विवेदी ने पांच कांग्रेस अध्यक्षों इंदिरा, राजीव, नरसिम्हा राव और सोनिया गांधी के साथ काम किया है। उन्हें सोनिया गांधी और राहुल गांधी का करीबी माना जाता है।

कमेंट करें
F7Omu