comScore

लकड़ी से बनेगी दुनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग, 13 साल में होगी तैयार

February 21st, 2018 21:34 IST

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अपनी टेक्नोलॉजी के लिए जाना जाने वाला देश जापान अब लकड़ी की मदद से दुनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग बनाने की तैयारी कर रहा है। राजधानी टोक्यो में बनने जा रही इस बिल्डिंग को जापानी कंपनी सुमिटोमो फॉरेस्ट्री तैयार करेगी। 70 मंजिला बनने वाली इस बिल्डिंग को 'W350' प्रोजेक्ट नाम दिया गया है। बताया जा रहा है कि इस बिल्डिंग में तकरीबन 1 लाख 80 हजार क्यूबिक मीटर लकड़ी का इस्तेमाल किया जाएगा। कंपनी के मुताबिक, लकड़ी से बनी इस बिल्डिंग को बनाने में कम से कम 13 साल का वक्त लगेगा।


36 हजार करोड़ का आएगा खर्च

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस बिल्डिंग को जापान की एक कंपनी सुमिटोमो फॉरेस्ट्री बना रही है और साल 2041 में कंपनी अपनी 350वीं एनिवर्सिरी मनाएगी। इसी खास मौके पर कंपनी लकड़ी से बिल्डिंग बनाने की तैयारी कर रही है। इस प्रोजेक्ट पर 600 बिलियन येन (करीब 36 हजार करोड़ रुपए) का खर्च आएगा। हालांकि, कंपनी का कहना है कि 2041 तक टेक्नोलॉजी बढ़ने से ये खर्च कम भी हो सकता है। इस बिल्डिंग को बनाने के लिए 10% स्टील और 1 लाख 80 हजार क्यूबिक मीटर लकड़ी का इस्तेमाल किया जाएगा। कंपनी ने इस प्रोजेक्ट को W350 नाम दिया है और ये बिल्डिंग 70 मंजिला होगी।



क्या होगा इस बिल्डिंग में खास? 

1. इस बिल्डिंग के चारों ओर बालकनी बनाई जाएगी और हर फ्लोर के टॉप पर पेड़-पौधे भी लगाए जाएंगे।
2. कंपनी का दावा है कि लकड़ी से बनी ये बिल्डिंग भूकंप से बचाने में भी कारगर होगी, क्योंकि इसमें लकड़़ी और स्टील के खंभो वाला 'ब्रेस्ड ट्यूब स्ट्रक्चर' होगा।
3. कंपनी का कहना है कि इस बिल्डिंग 8 हजार घर भी बनाए जाएंगे।
4. इस बिल्डिंग में 70 फ्लोर बनाए जाएंगे, जिनमें ऑफिस, रेस्टोरेंट और शॉप्स भी खोली जाएंगी। 
5. इस बिल्डिंग को बनाने के लिए 36 हजार करोड़ रुपए का खर्च आएगा और ये 2041 में बनकर तैयार हो जाएगी।

एन्वायर्मेंट फ्रेंडली भी रहेगी ये बिल्डिंग

इसके साथ ही ये बिल्डिंग एन्वायर्मेंट फ्रेंडली भी रहेगी। दरअसल, कॉन्क्रीट और स्टील से बनी बिल्डिंग्स में 5-8% तक का कार्बन प्रोड्यूस होता है। जबकि लकड़ी में कार्बन स्टोर रहता है, यानी लकड़ी कार्बन नहीं छोड़ती है। हालांकि, लकड़ी से बिल्डिंग बनाने में सबसे बड़ा चैलेंज आग से बचाने का होता है। इसके लिए कंपनियां क्रॉस लैमिनेटेड टिंबर का यूज करती हैं। इसके कारण इन लकड़ियों में भी स्टील की तरह ही आग को सहने की क्षमता होती और इन्हें हाई टेंपरेचर में भी कोई नुकसान नहीं होता है।



पहले भी बन चुकी हैं लकड़ी से बिल्डिंग

ये कोई पहली बार नहीं है जब लकड़ी से कोई बिल्डिंग बनाई जा रही है, लेकिन 70 मंजिला लकड़ी से बनी बिल्डिंग अभी तक दुनिया में कहीं भी नहीं बनी है। वैंकूवर में 53 मीटर ऊंची लकड़ी की एक बिल्डिंग बनी है, जिसमें सिर्फ स्टूडेंट्स ही रहते हैं और ये अब तक की लकड़ी से बनी सबसे ऊंची बिल्डिंग है। इसके अलावा मिनीपलीस में भी लकड़ी से 18 मंजिला बिल्डिंग बनाई जा चुकी है। 

कमेंट करें
Lqrtj