comScore

कमलनाथ ने जनजाति कार्य विभाग मंत्री ओमकार मरकाम को फ्री हेंड दिया

January 02nd, 2019 15:53 IST
कमलनाथ ने जनजाति कार्य विभाग मंत्री ओमकार मरकाम को फ्री हेंड दिया

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जनजाति कार्य विभाग मंत्री ओमकार मरकाम को फ्री हेंड दिया है। इंदौर रवाना होने से पहले शिकारपुर स्थित निवास पर मंत्री मरकाम उनसे मिलने पहुंचे थे। कमलनाथ ने प्रदेश के तमाम छात्रावासों के उन्नयन और बेहतर व्यवस्थाओं के निर्देश दिए हैं। साथ ही कहा है कि ट्राइबल की योजनाएं आखिरी छोर तक पहुंचे इस दिशा में गंभीरता पूर्वक कार्य करें। इस दौरान जुन्नारदेव विधायक सुनील उइके, जिला कांग्रेस अध्यक्ष गंगाप्रसाद तिवारी समेत अन्य नेता उपस्थित थे।  मंगलवार सुबह 10.30 बजे कमलनाथ इंदौर के लिए रवाना हुए। इससे पहले उन्होंने शिकारपुर पहुंचे लोगों की समस्याएं सुनी, सामाजिक संगठनों से भी मिले।

छात्रावासों का औचक निरीक्षण
 जनजातीय कार्य मंत्री ओमकार मरकाम ने अफसरों को सकते में डाल दिया। सुबह की सैर के बाद वे सीधे हॉस्टलों का निरीक्षण करने पहुंच गए। इस दौरान उन्होंने अफसरों को ये भी नहीं बताया कि कहां जाना है। शहर के बस स्टैंड घूमने के बहाने मंत्रीजी मानसरोवर कॉम्पलेक्स स्थित एससी एसटी बालक छात्रावास पहुंच गए। निरीक्षण के दौरान शासन द्वारा दिया गया ब्लांकेट आशिक नामक बच्चे का फटा मिला। जिसे बालक ने खुद ही सिल लिया था। इससे खुश हुए विभागीय मंत्री ने बच्चे को 10 रुपये का इनाम भी दे डाला। इसके बाद वे सीधे खाने की गुणवत्ता देखने लगे। मौके पर देखा कि बच्चों को सुबह का नास्ता दिया गया था। जिसे बच्चों द्वारा छिपाकर रख लिया गया था। जिस पर विभागीय मंत्री ने बच्चों से कहा कि जितना खाना आप खा सकते हैं उतना ही ले। उन्होंने बच्चों से ये भी पूछा कि विभाग ने स्वेटर-जैकेट ठंड से बचने के लिए दिए हैं या नहीं। अधिकारियों ने जगह कम होने की समस्या मंत्री के समक्ष रखी। जिस पर उन्होंने जल्द ही व्यवस्था बनाने की बात कही है।

परिसर पहुंचे तो सामने आई पानी की समस्या 
मानसरोवर स्थित छात्रावास का निरीक्षण करने के बाद वे सीधे कन्या शिक्षा परिसर पहुंच गए। यहां अधिकारियों ने पानी की समस्या से विभागीय मंत्री को अवगत कराया। जिस पर उन्होंने प्रपोजल बनाकर शासन को भेजने के निर्देश दिए हैं।

प्यून से लिया फीडबेक, पहुंच गए निरीक्षण करने 
मॉर्निंग वॉक के शौकीन जनजातीय कार्य मंत्री सुबह 5 बजे ही घूमने के लिए रेस्ट हाऊस से निकल गए थे। वापस लौटे तो एक भृत्य अखबार लेकर खड़ा था। जिससे सभी हॉस्टलों का फीडवेक लेने के बाद वे सीधे मानसरोवर स्थित छात्रावास में पहुंच गए।

हॉस्टल के बोर्ड पर मिली पुरानी सरकार 
हॉस्टल के निरीक्षण के दौरान मंत्रीजी ने ये भी पाया कि भाजपा सरकार के मंत्रियों व विधायकों के नाम लिखे हुए थे। जिस पर उन्होंने तुरंत ही इसे बदलने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिए हैं। इसके अलावा सीसी रोड की जगह छात्रावासों में कमरों का निर्माण करने की बात भी अधिकारियों से कही। 
 

कमेंट करें
yYixK