comScore
Dainik Bhaskar Hindi

कर्नाटक चुनाव : महिलाओं के हाथ में थी 100 पिंक पोलिंग बूथ की कमान

BhaskarHindi.com | Last Modified - May 12th, 2018 19:15 IST

1.3k
0
1

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरू। कर्नाटक में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान खत्म हो गया है। बेंगलुरू के जयनगर से बीजेपी उम्मीदवार बीएन विजयकुमार का निधन हो जाने से इस सीट पर चुनाव रद्द कर दिया गया है। फर्जी वोटर आईडी कार्ड मिलने के कारण आरआर नगर सीट पर चुनाव टाल दिया गया। इसके चलते अब राज्य में 224 से की जगह 222 सीटों पर ही मतदान हुआ। वोटिंग के लिए कर्नाटक में इस बार 56,696 मतदान केंद्र स्थापित किए गए। इस बार चुनाव में चुनाव आयोग ने एक खास तरह की पहल की। आयोग ने ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को पोलिंग के लिए प्रेरित करने के उद्देश्य खास ऐसे पोलिंग बूथ छांटे हैं जहां पर महिला मतदाताओं की संख्या पुरुष मतदाताओं से ज्यादा है। बीबीएमपी कमिश्नर एवं जिला चुनाव अधिकारी महेश्वर राव ने इस बारे में  जानकारी देते हुए कहा कि चुनाव आयोग इस बार राज्य में 100 मतदान केंद्रों पर सिर्फ महिला मतदान कर्मियों की तैनाती की। आयोग ने इन मतदान केंद्रों को पिंक पोलिंग स्टेशन नाम दिया गया। इन मतदान केंद्रों पर मतदान की पूरी जिम्मेदारी महिलाओं ने संभाली।

 

 

 

 

दिव्यांगों के लिए खास इंतजाम

दृष्टि बाधित मतदाता अपने मतदान का इस्तेमाल बिना किसी दिक्कत के कर सकें इसके लिए अलग से व्यवस्था की गई। इन 100 पोलिंग बूथ पर दिव्यांगों के लिए भी खास इंतजाम किए गए। मतदान केंद्रों पर दिव्यांग जनों और दृष्टि बाधित लोगों के लिए रैंप और ब्रेल लिपि की व्यवस्था की गई। 

 


 

गुरुवार शाम 5 बजे थम गया था चुनाव प्रचार

कर्नाटक विधानसभा चुनावों के लिए गुरुवार शाम पांच बजे चुनाव प्रचार समाप्त हो गया था। प्रधानमंत्री मोदी ने चुनाव प्रचार के अंतिम दिन अपने नमो एप से भाजपा के एससी-एसटी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया था। जबकि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बादामी में रोड शो किया था। कर्नाटक की सत्ता में दोबारा वापस आने के लिए कांग्रेस ने भी जमकर चुनाव प्रचार किया है। मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को पूरा विश्वास है कि कर्नाटक की जनता उन्हें एक बार फिर मौका देगी। यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने भी आठ मई को बीजापुर में रैली की और कांग्रेस के लिए वोट मांगे थे।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर