comScore

कर्नाटक: विधानसभा स्थगित, विश्वास मत पूरा कराने के लिए शाम 6 बजे की डेडलाइन

कर्नाटक: विधानसभा स्थगित, विश्वास मत पूरा कराने के लिए शाम 6 बजे की डेडलाइन

हाईलाइट

  • कर्नाटक विधानसभा में गठबंधन सरकार का फ्लोर टेस्ट सोमवार को भी टल गया
  • स्पीकर ने विधानसभा की कार्यवाही सुबह 10 बजे तक के लिए स्थगित कर दी
  • अब फ्लोर टेस्ट मंगलवार के लिए निर्धारित किया गया है

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरु। कर्नाटक विधानसभा में गठबंधन सरकार का फ्लोर टेस्ट सोमवार को भी टल गया। स्पीकर ने विधानसभा की कार्यवाही मंगलवार सुबह 10 बजे तक के लिए स्थगित कर दी है। अब फ्लोर टेस्ट मंगलवार को ही होगा। स्पीकर ने कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन सरकार को शाम 4 बजे तक फ्लोर टेस्ट से जुड़ी सभी कार्यवाही को पूरा करने और शाम 6 बजे तक विश्वास मत कराने की डेडलाइन दी है।

पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने कहा, 'हम अपने कुछ सदस्यों के बोलने के बाद, फ्लोर टेस्ट पूरा करेंगे। शाम 4 बजे तक हम चर्चा खत्म करेंगे, जिसके बाद शाम 6 बजे तक हम फ्लोर टेस्ट खत्म कर देंगे।' इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आर.वी. देशपांडे ने भाजपा के बीएस येदियुरप्पा से अपील की थी कि वे सदन को दिन के लिए स्थगित होने दें। लेकिन स्पीकर रमेश कुमार ने उनकी अपील को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि उन्हें अपना वादा निभाना है जो उन्होंने शुक्रवार को किया था कि विश्वास प्रस्ताव की प्रक्रिया आज पूरी हो जाएगी।

सदन में कांग्रेस और जेडीएस के विधायकों ने हंगामा भी किया। विधायकों ने सदन में संविधान बचाओ के नारे लगाए। दरअसल बीजेपी नेता येदियुरप्पा ने मांग की थी कि आज ही सदन में विश्वासमत की प्रक्रिया पूरी हो। इसका कांग्रेस-जेडीएस के विधायकों ने विरोध किया और नारेबाजी शुरू कर दी। इसके बाद येदियुरप्पा ने कहा, 'जब कांग्रेस-जेडीएस के विधायक बोल रहे थे तो हमने विरोध नहीं किया। सिद्धारमैया, सीएम और आप (अध्यक्ष) ने वादा किया था कि आज विश्वास मत कराएंगे और बहुमत साबित करेंगे। मैंने चीफ विप सुनील से भी इसे आज ही समाप्त करने की बात की है। हम 12 बजे रात तक सदन में ही रहेंगे। कृपया मुझे विश्वास मत पर आगे बढ़ने दीजिए।

सदन में जब कार्यवाही चल रही थी तब कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार विधानसभा के बाहर प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि 'स्पीकर नेता अपने सदस्यों को व्हिप जारी कर सकते हैं। इसकी कोई रोक नहीं है। 10वीं अनुसूची में यह साफ तौर पर कहा गया है। उन्होंने कहा कि संविधान के 164 (आई) के अनुसार, बीजेपी विधायकों को समझाने की कोशिश कर रही है कि कोई अयोग्य नहीं ठहराया जाएगा और वे मंत्री बन सकते हैं। शिवकुमार ने कहा कि स्पीकर ने बागी विधायकों को नोटिस दिया है, उन्हें सुबह 11 बजे तक का समय दिया गया है।

कार्यवाही के दौरान सोशल मीडिया पर एक लेटर भी सर्कुलेट हो रहा था जिसे सीएम कुमारस्वामी के इस्तीफा का पत्र बताया जा रहा था। इस पर कुमारस्वामी ने कहा, 'मुझे जानकारी मिली कि मैंने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। मुझे नहीं पता कि सीएम बनने का इंतज़ार कौन कर रहा है। किसी ने मेरे जाली हस्ताक्षर कर इसे सोशल मीडिया पर सर्कुलेट किया है। मैं पब्लिसिटी के लिए इस गिरे हुए स्तर से हैरान हूं।'

स्पीकर केआर रमेश ने सोमवार को कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली जेडीएस-कांग्रेस सरकार से आज फ्लोर टेस्ट को पूरा करने की अपील की थी। सदन को संबोधित करते हुए, अध्यक्ष ने कहा कि जारी किए गए व्हिप बागी विधायकों पर भी लागू होंगे। दोपहर 3.30 बजे के बाद, स्पीकर ने विधायकों को अपने भाषणों को खत्म करने के लिए 10 मिनट का समय दिया और कहा कि वह आज ही फ्लोर टेस्ट कराने के अपने शब्दों पर अड़े रहना चाहते हैं।

कमेंट करें
FCADV