comScore
Dainik Bhaskar Hindi

'पद्मावती' पर करणी सेना का धमकी भरा बयान, रिलीज हुई तो 'जौहर की आग में जलेंगे सिनेमाघर'

BhaskarHindi.com | Last Modified - January 03rd, 2018 13:37 IST

13.6k
0
0

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। साल 2017 की सबसे विवादित फिल्म पद्मावती का विवाद 2018 में भी खत्म होता नजर नहीं आ रहा। फिल्म सर्टिफिकेशन बोर्ड के 26 कट और फिल्म के चर्चित 'घूमर' गाने के साथ-साथ फिल्म के नाम को भी बदलने पर सहमति हो गयी, लेकिन राजपूत समाज अब भी इसके विरोध में ही खड़ा है। पद्मावती को सेंसर बोर्ड से मिली हरी झंडी के बाद अब नाराज करणी सेना ने फिर ऐसा बयान दिया है जिसके बाद पद्मावति की रिलीज की राह में और मुश्किलें आ गयी हैं।

राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना ने हाल ही में बयान दिया है कि सेंसर बोर्ड द्वारा फिल्म को क्लीनचीट देना 'दुर्भाग्यपूर्ण' है। इससे राजपूत समाज के सेंटिमेंट्स हर्ट हुए हैं, इसलिए अगर अब ये फिल्म रिलीज की गयी तो राजपूत समाज कानून को हाथ में लेने से नहीं हिचकेगा और जिन भी सिनेमाघरों में ये प्रदर्शित की जाएगी उसका 'जौहर की आग में जलना तय' है। इसलिए बेहतर होगा कि इस फिल्म पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया जाए।

संबंधित इमेज

'पद्मावति से पद्मावत', 26 कट फिर भी' ज्यों की त्यों' मुसीबत

इस बात से ये भी तय है कि सेंसर बोर्ड की सभी शर्तों को मानने के बावजूद संजय लीला भंसाली की परेशानी का कोई हल नहीं निकला और तमाम बदलाव के बाद भी फिल्म की रिलीज पर सवाल खड़ा है। इस मामले में राजपूत संगठन की गुजरात इकाई के अध्यक्ष राज शेखावत ने मीडिया के सामने खुली धमकी देते हुए कहा कि कि अगर इस फिल्म पर पूरे देश में प्रतिबंध नहीं लगाया गया, तो करणी सेना के सदस्य कानून अपने हाथ में लेंगे। बता दें इस फिल्म पर पहले ही कुछ राज्यों में प्रतिबंध लग चुका है जहां अब ये फिल्म प्रदर्शित नहीं की जाएगी, जिसमें गुजरात और मध्यप्रदेश भी शामिल है।

ये था सेंसर बोर्ड का आदेश

बीते दिनों सेंसर बोर्ड ने इस फिल्म को लेकर अपना फैसला सुनाया था जिसमें फिल्म में 26 जगह कट लगाने और फिल्म के 'घूमर' गाने में बदलाव कर दीपिका को न दिखाने की बात की गयी थी। इसके साथ ही फिल्म के नाम को 'पद्मावती' से बदलकर 'पद्मावत' करने पर बात की गयी थी और साथ ही फिल्म में डिसक्लेमर भी देना होगा कि ये काल्पनिक कहानी है। इतनी सब कांट-छांट के बाद भी फिल्म को U/A सर्टिफिकेट देने की बात की गई थी जिसे संजय लीला भंसाली ने स्वीकार कर लिया था।

karni vs padmavati के लिए इमेज परिणाम

कभी दीपिका को मिली 'नाक काटने' की धमकी, कभी आग की लपटों में घिरा 'सेट', जानें क्या है 'पद्मावती' विवाद

फिल्म पद्मावती की कहानी अब महारानी पद्मावती के जीवन से मेल खा रही है, जिस तरह से उन्होंने अपनी सुंदरता के कारण इतना बड़ा कदम उठाया था ठीक उसी तरह अब पद्मावती फिल्म भी अपनी भव्यता की बलि खुद चढ़ती नजर आ रही है। इस फिल्म में संजय लीला भंसाली ने हर संभव कोशिश की है फिल्म कास्ट से लेकर कॉस्ट्यूम और सेट पर भी खूब खर्च किया गया, ये फिल्म साल 2017 की बड़े बजट की फिल्मों में शुमार थी, लेकिन राजपूत समाज ने इस फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ और उन्हें तोड़मरोड़ को पेश करने करने का आरोप लगाया था। जिसकी लपटें राजस्थान से शुरु होकर पूरे देश में जा पहुंची है। इस फिल्म की शुरुआत में राजस्थान में लगे सेट को आग के हवाले कर दिया गया था और करणी के लोगों ने दीपिका की नाक काटने तक की धमकी दे डाली थी। 

karni vs padmavati के लिए इमेज परिणाम

जनवरी में होगी रिलीज या करना होगा लंबा इंतजार !

वैसे देखा जाए तो इस सब विवाद के बाद ये तय करना भी मुश्किल है कि अब इस फिल्म को जनवरी में सिनेमाघर में जगह मिलेगी या फिर इसकी रिलीज को लेकर भंसाली के साथ साथ दर्शकों को भी लंबा इंतजार करना पड़ेगा।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download