comScore

करतारपुर कॉरिडोर : इमरान बोले - सिद्धू अगर पाक में भी चुनाव लड़े तो जीत जाएंगे

November 29th, 2018 09:11 IST

हाईलाइट

  • सिखों के पवित्र धार्मिक स्थल करतारपुर साहिब कॉरिडोर की आखिरकर 70 साल बाद नींव रख दी गई।
  • पाक के न्योते पर समारोह में केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर, हरदीप पुरी और पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू शामिल हुए।
  • समारोह में इमरान खान ने सिद्धू की तारीफ में कसीदे पढ़े। सिद्धू ने भी इमरान खान की जमकर तारीफ की।

डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। सिखों के पवित्र धार्मिक स्थल करतारपुर साहिब कॉरिडोर की आखिरकर 70 साल बाद नींव रख दी गई। पाकिस्तान के न्योते पर इस समारोह में केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर, हरदीप पुरी और पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू शामिल हुए। इस कार्यक्रम में जहां पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सिद्धू की तारीफ में कसीदे पढ़े तो वहीं सिद्धू ने भी इमरान खान की जमकर तारीफ की। आतंकी सरगना हाफिज सईद का करीबी सहयोगी और खालिस्तान समर्थक गोपाल चावला भी इस समारोह में मौजूद था। इस दौरान चावला ने पाकिस्तानी सेना प्रमुख कमर बाजवा से मुलाकात की।

क्या कहा इमरान खान ने?
इमरान खान ने कहा, 'अगर जंग नहीं करनी तो दूसरा रास्ता दोस्ती के अलावा क्या है। मैं नहीं जानता की जब सिद्धू ओथ टेकिंग सेरेमनी में शामिल होने के लिए पाकिस्तान आए थे तो भारत में उनकी क्यों आलोचना की गई। वो तो शांति और भाईचारे की बात कर रहे थे।' इमरान ने कहा, 'अगर सिद्धू यहां आकर चुनाव लड़ ले तो वह बेशक चुनाव जीत जाएंगे खासकर पंजाब में।' उन्होंने कहा, 'दो किस्म के पॉलिटिशियन होते हैं। एक होता है जो इंसानों को जोड़कर वोट लेता है, दूसरा नफरते फैलाकर वोट बैंक भरता है। मैं ये उम्मीद रखता हूं कि ये ना हों कि हमें सिद्धू का इंतजार करना पड़े की जब वो प्रधानमंत्री बनेंगे तब हिंदुस्तान और पाकिस्तान में दोस्ती हो।

इमरान ने कहा, मैंने आज जो सिख समुदाय में खुशी देखी वो ऐसी थी जैसे कोई मुस्लिम मदिना से चार किलोमीटर दूर बॉर्डर के उस पार खड़ा हो और उसे मदिना जाने का मौका मिल गया हो। उन्होंने कहा, अगले साल जब आप यहां आएंगे तो आपको खुशी होगी। वहीं उन्होंने कहा कि हमने एक-दूसरे के लोग मारे हैं, लेकिन फिर भी सब भूला जा सकता है। उन्होंने कहा कि हमेशा कहा जाता था कि पाकिस्तान की फौज दोस्ती नहीं होने देगी, लेकिन आज हमारी पार्टी-पीएम-फौज एक साथ हैं। उन्होंने कहा कि हमारा मसला सिर्फ कश्मीर का है, इंसान चांद पर पहुंच चुका है लेकिन हम एक मसला हल नहीं कर पा रहे हैं। ये मसला जरूर हल हो जाएगा, इसके लिए पक्का फैसला जरूरी है।

क्या कहा नवजोत सिंह सिद्धू ने?
उधर सिद्धू ने कहा, 'हिंदुस्तान जीवे, पाकिस्तान जीवे, मेरा यार इमरान जीवे'। सिद्धू के इस बात पर काफी देर तर तालियां बजती रहीं, सिद्धू ने कहा कि सभी को अपनी सोच बदलनी पड़ेगी, तभी शांति कायम होगी। उन्होंने कहा दोनों देशों के बीच चल रहा खून खराबा बंद होना चाहिए, दोस्ती का पैगाम आगे बढ़ना चाहिए। सिद्धू ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर दोनों देशों के लोगों के बीच में संपर्क बढ़ाएगा, जो संपर्क टूटा हुआ था वो अब दोबारा जुड़ रहा है। इमरान की तारीफ करते हुए सिद्धू ने कहा, जब भी करतारपुर कॉरिडोर का इतिहास लिखा जाएगा तो पहले पन्ने पर इमरान खान का नाम आएगा।

क्या कहा हरसिमरत कौर ने?
हरसिमरत कौर अपने भाषण के दौरान भावुक हो उठी। उन्होंने कहा, यहां मेरा कोई दोस्त, कोई जानने वाला नहीं लेकिन एक सिख होने के नाते मेरी अरदास पूरी हुई है। उन्होंने कहा कि आज हमारी कौम के लिए ऐतिहासिक दिन है, हर सिख की यही मांग थी जो 70 साल में नहीं हो पाया, वो अब पूरा हुआ है। जिसके हाथ में सेवा लिखी थी, उसी के हाथों ये काम पूरा हुआ है। गुरु नानक साहब ने अपना आखिरी समय आपकी धरती पर बिताया, लेकिन 4 किमी. का ये फासला पूरा करने में 70 साल लग गए।

कमेंट करें
2qXuv