comScore

अमेरिका के लिए कश्मीरियों का खून मायने नहीं रखता : पाकिस्तान

July 27th, 2017 17:47 IST
अमेरिका के लिए कश्मीरियों का खून मायने नहीं रखता : पाकिस्तान

एजेंसी, इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने बुधवार को अमेरिका पर 'भारत की भाषा' बोलने का आरोप लगाते हुए कहा है कि अमेरिका के लिए 'कश्मीरियों का खून' मायने नहीं रखता। पाकिस्तान के गृहमंत्री चौधरी निसार ने कहा कि भारत सरकार कश्मीर में गंभीर मानवाधिकार उल्लंघन कर रही है और कश्मीर की आजादी के लिए लड़ रहे लोगों को अपना निशाना बना रही है। बावजूद इसके अमेरिका, भारत की बोली बोल रहा है।

पीएम मोदी के अमेरिकी दौरे के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा सलाउद्दीन को आतंकी घोषित करना और पाकिस्तान को अपने यहां पनप रहे आतंकवाद पर लगाम लगाने की नसीहत देने के बाद पाकिस्तान की ओर से यह प्रतिक्रिया आई है। पाकिस्तानी गृहमंत्री ने इस मुद्दे पर अमेरिका से पूछा कि मानवाधिकार से संबंधित अंतरराष्ट्रीय कानून कश्मीर पर लागू क्यों नहीं होते हैं?

निसार ने कहा कि कश्मीर में भारत द्वारा दी जा रही प्रताड़ना और मानवाधिकार उल्लंघन के खिलाफ दुनिया के हर देश को चिंता करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी सरकार कश्मीरियों के अधिकारों से समझौता नहीं करेगी और जब तक कश्मीरियों को न्याय प्राप्त नहीं होता और संयुक्त राष्ट्र में परिभाषित उनके अधिकारों को उन्हें नहीं दिया जाता तब तक पाकिस्तान अपने कश्मीरी भाइयों के साथ संघर्ष जारी रखेगा। निसार ने कहा, 'पाकिस्तान एक मजबूत कश्मीर चाहता है और इसके लिए वह कश्मीर के लोगों को राजनयिक, राजनीतिक और नैतिक समर्थन प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी की अमेरिका यात्रा के दौरान भारत और अमेरिका ने आतंकवादी संगठनों जैसे जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तैयबा और डी-कम्पनी के खिलाफ आपसी सहयोग बढ़ाने का वादा किया है। इसके साथ ही दोनों देशों के संयुक्त बयान में पाकिस्तान को अपने यहां पनप रहे आतंकवाद को खत्म करने और 26/11 मुंबई अटैक, पठानकोट और पाकिस्तानी-आधारित आतंकी समूहों द्वारा किए गए अन्य सीमावर्ती हमलों के मामले में दोषियों को जल्द सजा सुनाने की बात कही गई थी।

कमेंट करें
9vEhe