comScore
Dainik Bhaskar Hindi

केरल : बाढ़ में अब तक 37 की मौत, कई फंसे, Video में देखें तबाही का मंजर

BhaskarHindi.com | Last Modified - August 11th, 2018 19:41 IST

6.6k
1
0

News Highlights

  • पिछले 24 घंटे के अंदर केरल राज्य में प्राकृतिक आपदा के चलते 29 लोगों की मौत हो चुकी है।
  • इसी दौरान मशहूर पर्यटन स्थान मुन्नार में भूस्खलन की खबर सामने आई है।
  • इस हादसे में विदेशियों समेत 60 लोग फंसे हुए हैं।


डिजिटल डेस्क, तिरुवननंतपुरम। केरल में इन दिनों भारी बारिश, तूफान ने तबाही मचा रखी है। पिछले दो दिनों के अंदर केरल राज्य में प्राकृतिक आपदा के चलते 37 लोगों की मौत हो चुकी है। इसी दौरान मशहूर पर्यटन स्थान मुन्नार में भूस्खलन की खबर सामने आई है। इस हादसे में विदेशियों समेत 60 लोग फंसे हुए हैं। केरल राज्य  में पिछले 50 सालों की सबसे भीषण बारिश हो रही है, बारिश के चलते प्रदेश के करीब 24 बांधो के गेट खोलने पड़े हैं। बांधों से पानी छोड़े जाने के कारण नदियां उफान पर हैं।

जलस्तर बढ़ने के बाद खोले गए डैम के गेट

राहत बचाव में जुटे सेना के जवान 

जानकारी के अनुसार मुन्नार के एक रिजॉर्ट में लगभग 60 लोग फंसे हुए हैं। बताया गया है कि रिजॉर्ट को जाने वाली एक सड़क भूस्खलन के बाद बाधित हो गई है। इस वजह से ये लोग वहां फंस गए हैं। उन्हें निकालने के लिए सेना की मदद ली जाएगी। बता दें कि स्थिति को देखते हुए अमेरिका पहले ही अपने नागरिकों को केरल न जाने की सलाह दे चुका है।

लगभग 54,000 लोग हुए बेघर
बताया गया कि एर्नाकुलम और त्रिशूर में हाई अलर्ट के साथ-साथ वयानड जिले में 14 अगस्त तक के लिए रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। वयानड जिले के 1964 परिवारों के 10400 लोगों को राहत कैंपों में शिफ्ट किया गया है। अधिकारियों में अब तक कुल 29 लोगों की मौत हो चुकी है और लगभग 54,000 लोग बेघर हो चुके हैं।


वहीं केरल के सांसदों ने भी लोकसभा में शून्यकाल के दौरान प्राकृतिक आपदा के कारण राज्यभर में हुई तबाही से अवगत कराया। साथ ही सांसदों ने केंद्र सरकार से विशेष वित्तीय पैकेज की मांग की। इस पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि वह केरल के मुख्यमंत्री से बात करेंगे। राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारी बारिश से प्रभावित केरल को केंद्र की ओर से हर आवश्यक सहयोग प्रदान किया जाएगा।


जल स्तर बढ़ने के कारण 26 साल बाद इडुक्की डैम के गेट खोले गए हैं। डैम के पांच शटर को खोल दिया गया है। वहीं राहत और बचाव कार्य के लिए आर्मी की कुल 8 टीमें लगाई गई हैं। नेशनल डिजास्टर रिसपॉन्स फोर्स (NDRF) और आर्मी राहत और बचाव कार्य में जुटी हैं। बाढ़ प्रभावित लोगों को रिलीफ कैंप में ले जाया गया है। राज्य के मुख्यमंत्री पी विजयन ने कहा कि केरल  में लगातार हो रही भारी बारिश के चलते हालात चिंताजनक हैं।

.

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर