comScore
Dainik Bhaskar Hindi

किसान आंदोलन:दूध सब्ज़ी को तरसे लोग ,कई जगह झड़पें 

BhaskarHindi.com | Last Modified - July 27th, 2017 15:56 IST

340
0
0
किसान आंदोलन:दूध सब्ज़ी को तरसे लोग ,कई जगह झड़पें 

टीम डिजिटल, भोपाल. एमपी में जारी किसान आंदोलन ने लोगों की परेशानियां बढ़ा दी हैं. किसान अपनी मांग को लेकर उग्र हो गए है. किसान आंदोलन के कारण विभिन्न जिलों में जनजीवन  प्रभावित होने की जानकारी मिल रही हैं. कई जिलों में आंदोलनकारी किसान और पुलिस के बीच विवाद भी हुआ.

इंदौर में आंसू गैस छोड़ी 

आंदोलन के चलते  इंदौर में खासी अफरातफरी रही. पुलिस ने लाठियां भांजी. किसानों और पुलिस के बीच झूमाझ्‍टकी के हालात भी बने. कुछ वाहनों में आग भी लगा दी गई. हालात काबू करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े.पथराव और मारपीट में कुछ पुलिसकर्मी घायल भी हो गए. पुलिस को किसानों को काबू करने के लिए भारी मशक़्क़त करनी पड़ी .

आज बंद रहेगा  शाजापुर

शाजापुर में एक भी किसान सब्जी, अनाज लेकर नहीं पहुंचा. कालापीपल में बंद के दौरान किसान व दुकानदारों में झड़पें हुईं.  गुस्साएं किसानों ने दुकानों पर पत्थर फेंके. किसानों ने घी, दूध और मावा सड़कों पर फेंक दिया. भारतीय किसान संघ ने 4 जून को शाजापुर बंद का आह्वान किया है. बंद के दौरान किसानों के उग्र प्रदर्शन की आशंका को देखते हुए प्रशासन ने जिले भर में पुलिस बल तैनात कर दिया हैं और किसी भी अप्रिय स्तिथि से  सख्ती से निपटने के निर्देश दिए है .

यहाँ भी हाल बेहाल 

वही मंदसौर जिलेभर में दूध फ़ैलाने का सिलसिला जारी रहा. सब्जी विक्रेता शहर में सब्जी लेकर पहुंचे ही नहीं. नीमच के टैगोर मार्ग स्थित सब्जी मंडी प्रदर्शनकारियों के पहुंचने से बंद हो गई. सुरक्षा के मद्देनजर वज्र वाहन के साथ भारी पुलिस बल तैनात रहा.  किसानों ने सड़क पर दूध बहाकर सरकार की किसान विरोधी नीतियों का विरोध किया. उज्जैन जिले के नागदा में तो प्रदर्शनकारी सब्जी मंडी में घुस गए, वहां 300 दुकानों में तोड़फोड़ की। सब्जियां और फल लूट लिए। सब्जी बेचने वाली महिलाओं से मारपीट की। कुछ सब्जी बेचने वालों का गल्ला भी लूट लिया। वही खाचरौद में किसानों में किसानों ने गाड़ियों से टमाटर निकालकर सड़क पर फेंक दिए। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर