comScore
Dainik Bhaskar Hindi

शीशे की दीवार के बीच मां और पत्नी से मिले जाधव, पाक ने किया एक और वीडियो जारी

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 26th, 2017 11:48 IST

7.7k
0
0

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पाकिस्तान की जेल में कैद कुलभूषण जाधव को आज क्रिसमस गिफ्ट मिला। कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी ने पाक विदेश मंत्रालय में उनसे मुलाकात की। इस मुलाकात में जाधव और उनकी मां और पत्नी के बीच शीशे की दीवार थी। वे केवल एक दूसरे को देख पा रहे थे। दोनों की बात इंटरकॉम के माध्यम से हुई। इस मुलाकात में दोनों के साथ भारतीय उपउच्चायुक्त जेपी सिंह भी मौजूद थे। इस मुलाकात के बाद पाक सरकार की तरफ से कुलभूषण जाधव का एक नया वीडियो भी जारी किया गया। इस वीडियो में पाकिस्तान जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव मां और पत्नी से मुलाकात कराने पर पाक सरकार को शुक्रिया कह रहे हैं। हालांकि वीडियो मुलाकात के पहले ही रिकार्ड की जा चुका था। 



गौरतलब है कि कुलभूषण जाधव के मां और पत्नी का विमान 25 दिसंबर को ही इस्लामाबाद में 12.10 बजे लैंड किया। जिसके बाद उन्हें मुलाकात के लिए विदेश मंत्रालय लाया गया। दोनों की सुरक्षा की जिम्मेदारी पाक सरकार ने ली थी। मिलने के लिए उन्हें 30 मिनट का समय दिया गया था। आतंकी हमले की आशंका के चलते एयरपोर्ट से विदेश मंत्रालय तक तीन रास्ते बनाए गए थे। एयरपोर्ट से विदेश मंत्रालय तक के रास्ते में हर जगह शार्प शूटर, पाकिस्तानी रेंजर्स तैनात किए गए थे।



इससे पहले कुलभूषण जाधव की पत्नी और मां लगभग 1 बजे भारतीय उच्चायोग पहुंची थी। कुलभूषण जाधव को भी विदेश मंत्रालय लाया गया। जाधव से मिलने उनकी पत्नी और मां भी PAK विदेश मंत्रालय करीब 1.30 बजे पहुंची। गिरफ्तारी के 21 महीने बाद कुलभूषण जाधव अपनी मां और पत्नी से मिले। कुलभूषण का परिवार कमर्शियल फ्लाइट से इस्लामाबाद पहुंचा था और मुलाकात के बाद आज ही ये परिवार भारत वापस लौट जाएगा। 

पाकिस्तान ने ली है सुरक्षा की गारंटी

कुलभूषण की मां और पत्नी जब तक पाकिस्तान की जमीन पर रहेंगे तब तक उनकी पूरी सुरक्षा की गारंटी पाकिस्तान की होगी। वहीं कूलभूषण की मां और पत्नी से किसी तरह की पूछताछ पाकिस्तान नहीं कर सकेगा। यहां तक की पाकिस्तानी मीडिया को भी इनसे बातचीत करने की परमिशन नहीं होगी। 

पाकिस्तान का दावा

पाकिस्तान का दावा है कि भारतीय नौसेना का कमांडर जाधव भारत की प्रमुख खुफिया एजेंसी, रिसर्च एंड एनलिसिस विंग(रॉ) के लिए काम कर रहा था। पाकिस्तानी सेना ने कुलभूषण जाधव को 3 मार्च, 2016 को गिरफ्तार किया था। जधाव पर पाकिस्तान ने जासूसी करने के आरोप लगाए है। पाकिस्तानी सेना के मुताबिक कुलभूषण जाधव को बलूचिस्तान के मशकेल क्षेत्र से एक काउंटर-इंटेलिजेंस ऑपरेशन के माध्यम से पकड़ा गया था।

फांसी पर लगी है रोक

47 वर्षीय कुलभूषण जाधव को पिछले साल मार्च में गिरफ्तार किया गया था। इस साल अप्रैल में पाकिस्तान की अदालत ने जाधव को जासूसी के आरोप में मौत की सजा सुनाई थी। जाधव को कोर्ट ने अपना पक्ष रखने और भारतीय राजनयिक से मिलने की इजाजत तक नहीं दी। पाकिस्तान का दावा है कि भारतीय नौसेना के कमांडर जाधव भारत की प्रमुख खुफिया एजेंसी रिसर्च एंड एनलिसिस विंग(रॉ) के लिए काम कर रहे थे। हालांकि अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय ने अपने आदेश में जाधव की फांसी पर रोक लगाई है।
 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर