comScore
Dainik Bhaskar Hindi

इस्लाम त्यागकर कुवैत से कनाडा पहुंची राहफ को रिसीव करने पहुंची विदेश मंत्री

BhaskarHindi.com | Last Modified - January 13th, 2019 17:57 IST

5.2k
1
0

News Highlights

  • परिवार और देश से बचाने की मांग की थी
  • कुवैत से भागी हैं 18 वर्षीय राहफ
  • सऊदी लौटने पर हो सकती थी हत्या


डिजिटल डेस्क, टोरंटो। कुछ दिन पहले साऊदी से भागी लड़की को कनाडा ने अपने देशश की नागरिकता दे दी है। शनिवार को 18 वर्षीय राहफ मोहम्मद अल कुनुन कनाडा की राजधानी टोरंटो पहुंची, जिनका स्वागत कनाडा की विदेश मंत्री क्रिस्टिया फ्रीलैंड ने किया। टोरंटो अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर राहफ को लेने कनाडा की विदेश मंत्री उन्होंने राहफ को बहादुर कनाडाई बताकर उसका स्वागत किया। बता दें कि राहफ कुवैत से ताल्लुक रखती हैं। 

बता दें कि लड़की ने सोशल मीडिया के जरिए खुद को अपने परिवार और देश से बचाने की मांग की थी। वो अपना देश, परिवार और धर्म छोड़कर भाग गई थी। लड़की का नाम राहफ मोहम्मद अल कुनुन है और वो 18 साल की है। राहफ की कहानी सुनने और समझने के बाद उसे कनाडा ने शरण दी है।

क्यों भागी राहफ?

राहफ इसी हफ्ते सोशल मीडिया के जरिए खबरों में आई थी। उसे कुवैत से ऑस्ट्रेलिया भागने के दौरान बैंकॉक एयरपोर्ट पर हिरासत में ले लिया गया था। एयरपोर्ट प्रशासन राहफ को वापस सऊदी भेजने की तैयारी में था। इसी बीच, राहफ ने अपील की थी कि उसने इस्लाम छोड़ दिया है, इसलिए सऊदी लौटने पर उसकी हत्या हो सकती है।

ह्यूमन राइट्स वॉच ने की राहफ को बचाने की अपील

इसके बाद ह्यूमन राइट्स वॉच की अपील पर थाईलैंड ने राहफ को वापस नहीं भेजने का फैसला किया। संगठन का कहना था कि सऊदी से भागी लड़कियों को लौटने के बाद अपने परिवार और रिश्तेदारों से हिंसा और प्रताड़ना का सामना करना पड़ता है। ऐसे में मर्जी के खिलाफ राहफ को वापस भेजेने पर उसे गंभीर नुकसान हो सकता है। थाईलैंड ने राहफ को संयुक्‍त राष्‍ट्र शरणार्थी उच्‍चायुक्‍त (यूएनएचसीआर) की शरण में भेजा था। यहां कनाडा उसे शरण देने के लिए तैयार हो गया। शुक्रवार को उसे कनाडा के लिए रवाना कर दिया गया। राहफ के मुताबिक, वह पहले ऑस्ट्रेलिया ही जाना चाहती थी, लेकिन दस्तावेजी कार्रवाई और दूसरे कामों में ज्यादा समय लगने की वजह से उसने कनाडा में शरण लेना ठीक समझा। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download