comScore

दीवार फांदकर घर में घुसा तेंदुआ - सात बकरियों का किया शिकार

दीवार फांदकर घर में घुसा तेंदुआ - सात बकरियों का किया शिकार

डिजिटल डेस्क ,उमरिया। मानपुर बफरजोन में वन्यप्राणी के दस्तक की खतरनाक मूवमेंट रविवार रात बल्हौड़ में दर्ज हुई। वन्यप्राणी ने जंगल से लगे एक घर में घुसकर मवेशियों पर धावा बोल दिया। जब तक समीप सो रहे पशु पालकों को इसकी भनक लगती जानवर ने 7 बकरियों को मौत के घाट उतार दिया। इनमें से छह गौशाला व एक समीप ही खेत की मेंढ़ पर मिली हैं। घटना की खबर लगते ही मानपुर से रेंजर दिनेश जमरे ने गांव में डेरा डाल दिया। वन्यप्राणी की पहचान तेंदुए के रूप में हुई है। ग्रामीणों की सुरक्षा को देखते हुए वन कर्मचारियों को अस्थाई रूप से गांव में तैनात कर दिया गया है।

बस्ती से दूर है मकान

घटना रविवार दरमियानी रात दो से ढाई बजे की बताई जा रही है। मानपुर रेंज के देवरी बीट में उमरियाहार इलाके में शोभनाथ पिता भोगलवा गड़ारी(30) गांव की बस्ती से दूर मकान बनाकर रह रहा था। वन क्षेत्र से उसका खपरैल घर नजदीक पड़ता है। इसी का फायदा उठाकर रात को दो से ढाई बजे तेंदुआ दबे पाव शोभनाथ के घर पहुंचा था। घपरैल घर की गौशाला में दरवाजा बाहर से बंद था। इसलिए उसने दीवार और बल्ली के सहारे खपरैल छत के बीच से भीतर प्रवेश किया। हिंसक प्राणी को देखते ही बकरियां सतर्क हो गईं। कुछ देर बाद बकरियों की तेज आवाज सुनकर जब घर वाले जागे और गौशाला में देखा तो 7 बकरियां लहूलुहान हालत में मिली। मृत कुल संख्या में 2 बकरा तथा 5 मादा बताई गई हैं। इनमे एक मृत बकरा पास ही खेत में क्षत-विक्षत हाल में मिला है। माना जा है कि शिकार के बाद तेंदुआ सुबह होने तक उसे निवाला बना रहा था।

पलक झपकते ही मारा
तेंदुआ कितना शातिर शिकारी होता है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है गौशाला का दरवाजा बंद होने के बाद भी वह संकरे रास्ते से दीवाल फांदकर भीतर घुसा। पलक छपकते ही 7 मवेशी (2 बकरा, 5 बकरियां) को गले में दांत व पंजा मारकर मौत के घाट उतार दिया। सुबह पहुंची वन विभाग की टीम ने बकरियां के शरीर में मिले पंजे व दांत के निशान देखे। गौशाला में पगमार्ग देखकर उसकी पहचान तेंदुआ के रूप में हुई। सभी मृत मवेशियों का मौका पंचनामा कर जंगल में अंतिम संस्कार करवा दिया गया है।

इनका कहना है
सोमवार को सुबह सूचना मिलने पर मैंने खुद मौका मुआयना किया है। घटना में 7 बकरियां मृत हुई हैं। घटना वन क्षेत्र के तेंदुए द्वारा अंजाम दी गई है। अन्य कोई व्यक्ति दुर्घटना का शिकार नहीं हुआ। लोगों की सुरक्षा को देखते हुए  एक वन रक्षक की ड्यूटी व वन सीमा में चौकसी बढ़ा दी गई है। मुआवजा हेतु प्रकरण तैयार किया जा रहा है। 

दिनेश जमरे, रेंजर मानपुर उमरिया।
 

कमेंट करें
xrlR9