comScore

पानी की किल्लत से प्रभावित गांवों में टैंकरों से पहुंचेगा साफ पानी, सूखे जैसी स्थिति

पानी की किल्लत से प्रभावित गांवों में टैंकरों से पहुंचेगा साफ पानी, सूखे जैसी स्थिति

डिजिटल डेस्क, नागपुर। पेयजल संकट वाले गांवों में मंजूर प्रारूप के अनुसर कुएं व नल दुरुस्ती को प्राथमिकता देकर जलापूर्ति की जाए और इससे भी पानी की मांग पूरी नहीं हो, तो टैंकरों से शुद्ध पानी की जलापूर्ति करने के निर्देश जिलाधीश अश्विन मुद्गल ने दिए हैं। जिले में 33 गांवों में 54 टैंकरों से जलापूर्ति की जा रही है।  इनमें कामठी तहसील के 9, हिंगना के 12 और नागपुर ग्रामीण के 23 टैंकरों से पीने का पानी पहुंचाया जा रहा है। टैंकरों से जलापूर्ति करते समय  जंतु रहित जलापूर्ति करने की जिम्मेदेरी गटविकास अधिकारी की रहेगी। जलापूर्ति में लगे सभी टैंकरों पर जीपीआरएस सिस्टम लगाए बिना टैंकर ठेकेदारों को बिल का भुगतान नहीं करने कि निर्देश जिलाधीश ने दिए हैं। उन्होंने कहा कि, भू-गर्भ का पानी जंतु रहित करने के बाद ही जलापूर्ति की जाए। पानी किल्लत कृति प्रारूप के अनुसार 995 गांवों में 1,285 उपाय योजनाओं को मंजूरी दी गई है, इसके लिए 25 करोड़ 98 लाख रुपए का खर्च आएगा। पानी किल्लत कृति प्रारूप के अनुसार 995 गांवों में 1,285 उपाय योजनाओं को मंजूरी दी गई है, इसके लिए 25 करोड़ 98 लाख रुपए का खर्च आएगा। मंजूर प्रारूप के अनुसार 10 उपाययोजना लागू की गई हैं और आगामी आठ दिनों में यह योजना प्राथमिकता से  पूर्ण करने के निर्देश जिलाधीश ने दिए हैं। 

कमेंट करें
RanLb