comScore

राहु और केतु का उच्चराशि में स्थान परिवर्तन, इन राशियों पर होगा असर

March 04th, 2019 19:11 IST
राहु और केतु का उच्चराशि में स्थान परिवर्तन, इन राशियों पर होगा असर

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राहु- केतु दोनों ग्रह अपनी-अपनी उच्चराशि में स्थान परिवर्तन 6 और 7 मार्च की रात्रि में 00:05 पर कर रहे हैं। ज्योतिष के अनुसार ये दोनों ग्रह लंबे समय यानि 18 माह में अपना स्थान परवर्तन करतें हैं। इस प्रकार इनके राशि परिवर्तन का प्रभाव जातक के जीवन में लंबे समय यानी 18 माह तक रहता है। राहु और केतु के 7 मार्च 2019 को होने वाले राशि परिवर्तन से जातक को अचानक लाभ, अचानक कष्ट या हानि देखने को मिल सकती है। इसके अलावा शेयर बाजार, अध्यात्म, तंत्र-मंत्र, विघटन आदि कारक तत्व भी इन ग्रहों को प्राप्त है।

दोनों ग्रह चंद्रमा की राशि कर्क और मकर को छोड़कर अपनी उच्च राशि मिथुन व धनु राशि में प्रवेश करेंगे। राहु व केतु दोनों ग्रह 18 साल के बाद अपनी-अपनी उच्च राशि में जा रहे हैं। ज्योतिष विज्ञान के अनुसार दोनों ग्रह 18 अगस्त 2017 से छह मार्च 2019 तक कर्क राशि में थे। दोनों ग्रह कर्क राशि में 18 माह तक रहे, जो कि अब सात मार्च को राशि परिवर्तन के साथ दोनों ग्रह 23 सितम्बर 2020 तक उच्च के रहेंगे। 

राहु व केतु ग्रह आकस्मिक घटनाएं कराते हैं इनका राशि परिवर्तन के कारण लोक संस्कृति चरम पर होगा, किन्तु नक्सलवाद,आतंकवाद पर अंकुश लगाने में सैना और पुलिस सक्षम होगी। दोनों ग्रहों का उच्च राशि में प्रवेश होने के बाद दोनों ग्रहों के प्रभाव से देश के लगभग सभी प्रदेशों को विकास के लिए केंद्र सरकार से विशेष वित्तीय अनुदान मिलने की संभावना है। 

इसके अलावा खनन क्षेत्र में विशेष सफलता मिलेगी। लोक संस्कृति नए आयाम के साथ चरमोत्कर्ष पर होगा। राहु-केतु ग्रह के परिवर्तन से पिछले गोचर की तुलना में इस बार देश की बहुत अच्छी स्थिति रहेंगी। अन्य ग्रहों की राशि परिवर्तन की भांति इन ग्रहों का राशि परिवर्तन भी प्रत्येक राशि के जातक के जीवन में कुछ विशेष बदलाव लेकर आता है। प्रत्येक राशि के अनुसार, अलग-अलग प्रभाव देखने को मिलेगा। तो आइए जानते हैं आपकी राशि पर इस राशिपरिवर्तन का क्या प्रभाव हो रहा है।

मेष राशि- 
धन लाभ के योग बनेंगे, भाग्य साथ देगा। पुरानी समस्याओं से मुक्ति मिलेगी और भाग्य का साथ मिलेगा। लेकिन कुछ मानसिक उत्पीड़न और व्यापार में धनहानि की आशंका भी है अपना कार्य सावधानी पूर्वक करें।

वृष राशि- 
इस राशि वालों को अचानक धन हानि हो सकती। इसलिए कहीं पर धन निवेश करने और लेनदेन में सावधानी रखें। किन्तु संचित धन में वृद्धि होगी। धार्मिक कार्य में सक्रियता रहेगी व्यापार में कुछ हानि की प्रबल आशंका रहेगी। उलझने बढ़ सकतीं है। 

मिथुन राशि- 
मन में दुविधा की स्थिति पैदा होगी और काम में बाधांए आ सकती हैं। शारीरिक आरोग्यता के कारण पीड़ा हो सकती है। किन्तु व्यापार में बढ़ोत्तरी भी देखने को मिलेगी। सामाजिक स्तर कुछ गिर सकता है। मन में अपराध बोध- सा बना रहेगा।

कर्क राशि- 
खर्चों में बढ़ोत्तरी होगी। कुछ लोगों को नींद न आने की समस्या हो सकती है। विदेश यात्रा पर जाने का योग बन सकता है। इस समय में कर्ज से मुक्ति मिलने के योग भी प्रबल है। किन्तु शारीरिक कष्ट व दुर्घटना की आशंका भी बनी रहेगी।

सिंह राशि- 
इस राशि के जातकों के लिए राहु और केतु का राशिपरिवर्तन लाभकारी होगा। मान- सम्मान बढ़ेगा। धनलाभ में वृद्धि होगी। प्रतियोगिता या परीक्षा में आप सफलता प्राप्त कर सकते हैं। परिवार में सुख-शांति आएगी। पुरानी जटिल समस्याओं का इस समय में निदान होगा।

कन्या राशि- 
इस राशि के जातकों को लाभ के योग बन रहे हैं। पद, मान-प्रतिष्ठा और सम्मान में वृद्धि होगी। इस समय में उन्नति होगी। मकान-भूमि,वाहन का सुख भी प्राप्त होगा। कुछ मानसिक पीड़ा और शारीरिक कष्ट परेशान कर सकता है। 

तुला राशि- 
तुला राशि के जातकों को राहू-केतु का राशि परिवर्तन सामान्य से कमजोर रहेगा। छोटे भाई बंधुओं को कष्ट हो सकता है, लेकिन देव कृपा प्राप्त होगी। इस समय में आकस्मिक धन लाभ भी हो सकता है। आर्थिक कष्ट और पारिवारिक समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

वृश्चिक राशि- 
इस राशि के जातकों को शारीरिक कष्ट और दुविधा की स्थिति देखनी पड़ सकती है। ससुराल पक्ष से लाभ प्राप्ति के योग बनेगें। कुटुम्ब या परिवार में नविन व्यक्ति में वृद्धि होगी। कार्यक्षेत्र में सकारात्मक प्रभाव बढ़ेगा और आर्थिक लाभ होगा। 

धनु राशि- 
इस समय धनु राशि के जातकों में दाम्पत्य प्रेम बढ़ेगा। साझेदारों से लाभ प्राप्ति के योग बन रहे हैं। धार्मिक गतिविधियां भी बहुत बढ़ेगी बहुत समय से चली आ रही समस्याओं से मुक्ति मिलेगी और प्रसन्नता रहेगी। 

मकर राशि- 
इस राशि वालों के लिए राहु और केतु का राशिपरिवर्तन शत्रुओं पर विजय दिलाने वाला रहेगा। रोग एवं ऋण से मुक्ति मिलेगी। यात्रा का सुख प्राप्त होगा। लेकिन कोई शारीरिक चोट लग सकती है। शत्रुओं से भय के साथ वाहन दुर्घटना की भी आशंका हैं। 

कुंभ राशि- 
संतान के कार्यों में बाधाएं आ सकती हैं। वैसे इस समय में आकस्मिक धन लाभ होने की प्रबल सम्भावना हैं। समाजिक कार्य में सक्रियता से मान-सम्मान प्राप्त होगा। 

मीन राशि- 
इस राशि के जातकों को इस समय में घरेलू कलह और कष्ट देखने को मिल सकता है। किन्तु साथ ही कार्य क्षेत्र में प्रशंसा और धन लाभ भी मिलेगा। इस समय में नए वाहन का सुख प्रबल रूप से है। सम्मान और वैभव के साथ आर्थिक लाभ भी मिलने के योग हैं।

कमेंट करें
poKhi