comScore
Dainik Bhaskar Hindi

मायावती से मिले अखिलेश, कहा- यह मुलाकात ‘महापरिवर्तन’ के लिए 

BhaskarHindi.com | Last Modified - March 14th, 2019 12:56 IST

2.7k
0
0
मायावती से मिले अखिलेश, कहा- यह मुलाकात ‘महापरिवर्तन’ के लिए 

News Highlights

  • लोकसभा चुनाव 2019: मायावती से मिले अखिलेश यादव।
  • अखिलेश यादव ने कहा- यह मुलाकात ‘महापरिवर्तन’ के लिए।
  • बैठक के बाद मायावती के साथ ट्विटर पर शेयर की फोटो।


डिजिटल डेस्क, लखनऊ। लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की प्रमुख मायावती से मुलाकात की। लखनऊ में मायावती के आवास पर बैठक के बाद अखिलेश यादव ने एक फोटो ट्वीट कर लिखा है, ''एक मुलाकात ‘महापरिवर्तन’ के लिए। बता दें कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की मेरठ में भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर से मुलाकात के कुछ ही घंटे बाद ही अखिलेश ने मायावती से मुलाकात की।
 


दरअसल लोकसभा चुनाव में सत्ता के शिखर तक पहुंचने के लिए उत्तर प्रदेश सबसे महत्वपूर्ण राज्य है। यूपी में लोकसभा की कुल 80 सीटें हैं। इस बार सपा और बसपा साथ मिलकर बीजेपी के खिलाफ अपने उम्मीदवार मैदान में उतार रहे हैं। अब दोनों दलों के साथ आने से बीजेपी की चिंताएं भी बढ़ गई हैं। वहीं अखिलेश यादव और मायावती इस गठबंधन को लेकर काफी उत्साहित हैं। बुधवार को दोनों नेताओं के बीच करीब डेढ़ घंटे तक बैठक चली। इसके बाद अखिलेश यादव ने मायावती के साथ एक फोटो ट्वीट करते हुए लिखा, एक मुलाक़ात ‘महापरिवर्तन’ के लिए।


प्रत्याशियों के नाम पर भी चर्चा
जानकारी के मुताबिक, दोनों नेताओं के बीच बैठक में कई अहम मुद्दों को लेकर बातचीत हुई है जिसमें पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गठबंधन के प्रत्याशियों के नामों पर चर्चा हुई है। सपा प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने बताया, यह मुलाकात आगामी लोकसभा चुनाव के लिए होने वाली रैलियों, सभाओं और बैठकों के सिलसिले में थी। उन्होंने बताया, होली के बाद चुनाव प्रचार की शुरूआत कर दी जाएगी। चौधरी ने बताया, गठबंधन ने उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के लिए दो सीटें छोड़ी हैं और ईमानदारी से पूरा समर्थन किया जाएगा।    

यूपी में अकेले चुनाव लड़ रही है कांग्रेस
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से 38 सीटों पर बसपा, 37 सीटों पर सपा और तीन सीटों पर रालोद चुनाव लड़ रही है, जबकि 2 सीटें (रायबरेली और अमेठी) कांग्रेस के लिए छोड़ी गई है। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस अकेले चुनावी मैदान पर उतर रही है। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें
Survey

app-download