comScore

बरतें सावधानी, माघ पूर्णिमा पर पड़ रहे चंद्रग्रहण का होगा ऐसा प्रभाव

January 24th, 2018 17:40 IST

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली।  माघ पूर्णिमा और चंद्रग्रहण दोनों एक ही दिन अर्थात 31 जनवरी 2018 को हैं। चंद्रमा मन का कारक बताया गया है। खासकर चंचल मन और कमजोर दिल वालों को ग्रहण अधिक प्रभावित करता है। एक ओर स्नान दान के लिए ये दिन पुण्यकारी बना हुआ है तो वहीं इस दिन की गई थोड़ी सी भी चूक आपको बड़े संकट में डाल सकती है। 

दुर्घटना को आमंत्रण

सामान्यतः देखने में आता है कि मन भटकने से ग्रहण काल में वाहन दुर्घटनाएं अधिक होती हैं। पूर्णिमा के दिन भी यही स्थिति बन जाती है। ऐसे में यदि आपका वाहन चलाना इस दिन जरूरी है तो सावधानी बरतें और रात्रि में वाहन ना चलाएं ऐसा प्रयास करें। कई बार मन में आए भटकाव की वजह से विवाद की स्थितियां भी निर्मित हो जाती हैं। जिसकी वजह से आप परेशाानी मंे पड़ सकते हैं। अतः स्वयं को शांत रखने का पूर्णतः प्रयास करें। 


अधिक बड़ा और प्रकाशमयी होगी चंद्रमा
पूर्णिमा की रात चांद अधिक बड़ा और तीव्र प्रकाश के साथ नजर आता है। ऐसे में यह मन भटकाने और मन विचलित होने का कारक बन सकता है। यही वजह है कि थोड़ी सी भी गलती, आपको परेशानी में डाल देती है। 

मोक्ष के उपरांत की करें ये कार्य

पूर्णिमा का दिन अनेक कार्यों के लिए शुभ माना गया है, किंतु ग्रहण काल में माना जाता है कि भगवान को कष्ट है ऐसे में इस काल में किसी भी मंगलकार्य को करने से बचना चाहिए। इस काल में मोक्ष के उपरांत आप किसी विशेषज्ञ के मार्गदर्शन में इन्हें कर सकते हैं। 

स्वयं को डाल सकते हैं मुसीबत में

यदि आप कमजोर दिल के हैं किसी बीमारी से पीड़ित हैं या कोई महिला गर्भवती है तो ग्रहण के दौरान नियमों का विशेष रूप से पालन करें। अन्यथा आप अनजाने में स्वयं को मुसीबत में डाल सकते हैं। 
 

कमेंट करें
Z8p3d