comScore

माचागोरा डैम घूमने गए युवकों की नाव बही, रेस्क्यू कर बचायी सभी की जान

माचागोरा डैम घूमने गए युवकों की नाव बही, रेस्क्यू कर बचायी सभी की जान

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। धरमटेकड़ी चौकी क्षेत्र के देवर्धा काराघाट से लगे माचागोरा डैम में नाव से घूमने का शौक गांव के कुछ युवकों को भारी पड़ गया। माचागोरा डैम में मिली पेंच नदी के तेज बहाव में युवकों की नाव बह गई। सभी युवक डैम के बीच स्थित पेड़ की टहनियों के सहारे पानी के तेज बहाव से बचे रहे। घटना मंगलवार सुबह लगभग 11 बजे की है। किनारे से लगभग दो किलोमीटर दूर पेड़ पर फंसे इन युवकों को होमगार्ड और पुलिस की टीम ने स्थानीय मछुआरों की मदद से रेस्क्यू कर बाहर निकाला। इस संबंध में चौकी प्रभारी एसआई सुधाकर सिंह परिहार ने बताया कि मंगलवार सुबह देवर्धा काराघाट से लगे माचागोरा डैम के किनारे रखी मतस्य समिति की नाव लेकर काराघाट और उसके आसपास के गांव के 9 युवक डैम में घूमने निकले थे। कुछ दूरी पर जाकर पेंच नदी के तेज बहाव में नाव अनियंत्रित होकर काफी दूर निकल गई। युवकों ने पहले नाव संभालने का प्रयास किया, लेकिन नाव पलट गई। सभी युवकों ने डैम के बीच मौजूद पेड़ की टहनियां पकड़कर जान बचाई और अपने परिचितों को मोबाइल से घटना की जानकारी दी। परिजनों ने पुलिस को घटना के संबंध में सूचना दी। मौके पर डायल-100 का स्टाफ, पुलिस, होमगार्ड की रेस्क्यू टीम पहुंच गई थी। टीम ने ग्रामीणों की मदद से सभी 9 युवकों को डैम से बाहर निकाला। रेस्क्यू टीम के साथ होमगार्ड  डिस्ट्रीट कमांडेंट स्नेहलता पाठ्या शामिल है।

बारिश शुरू होते ही बहाव हुआ तेज

युवकों के मुताबिक जब वे नाव से डैम में घूमने निकले। तब बारिश नहीं हो रही थी। अचानक शुरू हुई बारिश के बाद सिंगोड़ी से आने वाली पेंच नदी का तेज बहाव डैम में आ गया। जिससे उनकी नाव अनियंत्रित होकर बह गई।  इस तेज बहाव में नाव नहीं संभाल पाए।

युवकों को तैरना भी नहीं आता

रेस्क्यू टीम प्रभारी प्रदीप शर्मा ने बताया कि डैम में फंसे युवकों में से कोई भी अच्छा तैराक नहीं है। गनीमत है कि डेम के बीच स्थित पेड़ का युवकों को सहारा मिल गया। पेड़ की टहनियों के सहारे युवक काफी देर तक अपने आप को बचा पाए।

डेम में फंसे थे यह युवक

माचागोरा डैम में काराघाट देवर्धा निवासी राहुल वर्मा, चन्हियाकला निवासी प्रशांत सक्सेना, दुर्गेश वर्मा, शैलेन्द्र उसरेठे, मर्दुल वर्मा, पिपरिया बिरसा निवासी नितेश पटेल, विवेक पटेल, नेर निवासी भूरा उसरेठे और काराघाट निवासी सूरज वर्मा शामिल है।

रेस्क्यू करने वाली टीम

पुलिस, होमगार्ड और गोताखोर की टीम ने लगभग दो से तीन घंटे का रेस्क्यू कर डैम में फंसे युवकों को बाहर निकाला। रेस्क्यू टीम में पीसी गणेश धुर्वे, एएसआई प्रदीप शर्मा, रामप्रसाद सिंगोतिया, सैनिक श्रीपाल, गौतम, दीपक, राहुल, अंकित, कुमार सिंह, सौरभ के अलावा गोताखोर नेवाराम कहार, धनीराम कहार, अनूप कहार और डायल-100 स्टाफ आरक्षक शशिकला व पायलेट संजय दुबे शामिल है। 

कमेंट करें
LrSOP