comScore

चुनाव के दौरान भी मदन महल पहाड़ी से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई जारी रखो

March 13th, 2019 14:05 IST
चुनाव के दौरान भी मदन महल पहाड़ी से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई जारी रखो

डिजिटल डेस्क जबलपुर । हाईकोर्ट ने राज्य शासन और नगर निगम को आदेशित किया है कि लोकसभा चुनाव के दौरान भी मदन महल पहाड़ी से अतिक्रमण और अवैध निर्माण हटाने की कार्रवाई जारी रखी जाए। जस्टिस आरएस झा और जस्टिस संजय द्विवेदी की युगल पीठ ने कहा है कि अतिक्रमण हटाने में किसी भी प्रकार का पक्षपात या भेदभाव नहीं किया जाए। युगल पीठ ने पिसनहारी की मढिय़ा का सीमांकन कर रिपोर्ट पेश करने का भी आदेश दिया है। याचिका की अगली सुनवाई 1 अप्रैल को नियत की गई है।
गढ़ा गौड़वाना संरक्षण संघ के किशोरीलाल भलावी और नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच के डॉ. पीजी नाजपांडे की ओर से अलग-अलग जनहित याचिका दायर कर मदनमहल पहाड़ी से अतिक्रमण और अवैध निर्माण हटाने का अनुरोध किया है। हाईकोर्ट के आदेश पर मदन महल पहाड़ी से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जा रही है। राज्य शासन की ओर से अतिरिक्त महाधिवक्ता अजय गुप्ता ने कोर्ट को बताया कि मदन महल पहाड़ी से एक मंदिर को हटाया गया है। एक मस्जिद का कुछ हिस्सा हटाया गया है। नगर निगम की ओर से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई निरंतर की जा रही है।
अभी तक नहीं हटे कई धर्मस्थल
अधिवक्ता सतीश वर्मा ने फोटोग्राफ पेश कर बताया कि आदेश के बावजूद मदनमहल पहाड़ी से कई धर्मस्थलों को नहीं हटाया गया है। उन्होंने कहा कि पहाड़ी में मौजूद कालीमठ, हनुमान मंदिर और बड़े पीर बाबा की दरगाह को अभी तक नहीं हटाया गया है। धर्मस्थल हटाने में पक्षपात किया जा रहा है। नगर निगम की ओर से पिछले 15 दिन में एक भी अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि बदनपुर पहाड़ी में अभी भी पहाड़ी को तोड़कर अवैध निर्माण किया जा रहा है। बाजनामठ और इंदिरा बस्ती में पहाड़ी से अतिक्रमण नहीं हटाए गए है।
फेसिंग और पौधारोपण कराने की मांग
याचिकाकर्ता और अधिवक्ता जकी अहमद ने युगल पीठ से कहा कि मदन महल पहाड़ी से जिस जगह से अतिक्रमण हटाया गया है, वहां पर फेसिंग और पौधारोपण कराया जाए। नगर निगम की ओर से अधिवक्ता अंशुमन सिंह ने कहा कि अतिक्रमण हटाने की वजह से पहाड़ी में मलबा पड़ा हुआ है। मलबा हटाने के बाद फेसिंग और पौधारोपण का काम शुरू किया जाएगा।

Loading...
कमेंट करें
I0Wwt
Loading...